होम /न्यूज /उत्तराखंड /

Uttarakhand Election: वोटिंग के लिए 1 घंटा एक्स्ट्रा, 5100 बूथ महिलाओं के सुपुर्द, जानिए कैसी है चुनावी तैयारी

Uttarakhand Election: वोटिंग के लिए 1 घंटा एक्स्ट्रा, 5100 बूथ महिलाओं के सुपुर्द, जानिए कैसी है चुनावी तैयारी

उत्तराखंड चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने तैयारियों का ब्योरा दिया.

उत्तराखंड चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने तैयारियों का ब्योरा दिया.

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Elections) संपन्न करवाने के लिए चुनाव आयोग (Election Commission) ने कमर कस ली है. आयोग ने व्यवस्थाओं और कायदों के बारे में जानकारी दी कि सियासी रैलियों (Rally) में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) की ज़िम्मेदारी, स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की होगी. आयोग ने एक 'सी विजिल' एप (EC App) बनाया है, जिसके तहत किसी भी प्रकार से नियमों की अवहेलना पर फ़ोटो क्लिक कर कोई भी आयोग को भेज सकता है और ऐसा मैसेज गोपनीय तौर पर भी भेजा जा सकेगा. वोटरों (Uttarakhand Voters) के लिए और क्या खास इंतज़ाम होंगे, जानिए तमाम बातें.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव संपन्न करवाने के लिए चुनाव आयोग ने पूरी तरह से तैयार होने का दावा किया. शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए आयोग ने बताया कि प्रलोभन मुक्त चुनाव करवाने के इंतज़ाम किए जा रहे हैं और शराब वितरण पर पूरी तरह अंकुश लगाने की बात राजनीतिक पार्टियों ने भी कही है. आयोग ने गुरुवार को राज्य में 6 राजनीतिक पार्टियों और डीजीपी से बातचीत कर उनके सुझाव आदि जाने. पार्टियों ने चुनाव खर्च और पोलिंग का समय बढ़ाने की मांग प्रमुख रूप से रखी. इनके अनुरूप आयोग ने चुनाव को लेकर पूरा खाका साझा किया.

चुनाव आयोग के डेटा के मुताबिक उत्तराखंड में 81.43 लाख वोटर्स हैं, जिनमें 1.9 लाख नए महिला वोटर्स एड हुए हैं. 1,10,408 नए युवा वोटर्स जुड़े हैं जो 18 से 19 साल की उम्र के हैं, जबकि सर्विस वोटर्स 93 हजार से अधिक हैं. जिन बूथों पर 65 फीसदी से कम मतदान के आंकड़े रहे, उन्हें चिह्नित कर जागरूकता कैम्पेन चलाया जा रहा है. आयोग ने निष्पक्ष चुनाव करवाने का दावा करते हुए कहा ​है कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले कैंडिडेट्स को तीन बार एड देकर अपने ब्योरे सार्वजनिक करने होंगे. पॉलिटिकल पार्टीज़ को भी ऐसे उम्मीदवारों पर सफाई देनी होगी.

5100 बूथ महिलाएं करेंगी कंट्रोल
उत्तराखंड में पुरुषों की तुलना में चूंकि महिला वोटर ज़्यादा हैं इसलिए यहां महिलाओं को वोटिंग के लिए बढ़ावा देने के लिहाज़ से आयोग ने 5100 पोलिंग बूथ ऐसे बनाए हैं, जहां 100 फीसदी स्टाफ महिलाओं का होगा. इसी तरह, 5 पोलिंग बूथ दिव्यांगों द्वारा हैंडल किए जाएंगे. पहले 1500 वोटर्स पर होता था, अब 1200 वोटरों पर एक पोलिंग सेंटर होगा. कुल 66,700 वॉलेंटियर्स पोलिंग बूथ पर तैनात रहेंगे.

पोलिंग बूथ पर होंगी बेसिक सुविधाएं
आयोग ने बताया कि सभी बेसिक सुविधाओं के साथ ही भीड़ की स्थिति में बैठने की भी व्यवस्था होगी. पोलिंग बूथ पर वेबकास्टिंग का भी इंतज़ाम होगा. कोविड सेफ पोलिंग बूथ बनाए जाने की बात कहते हुए आयोग ने बताया कि राज्य में लगभग 100 फीसदी लोगों को वैक्सीन की सिंगल डोज़ और 70 फीसदी लोगों को डबल डोज़ लग चुके हैं. बूथों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य होगा और इस बार पोलिंग टाइम 1 घंटा बढ़कर मिलेगा.

Tags: Assembly elections, Election commission, Uttarakhand Assembly Election, Uttarakhand news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर