होम /न्यूज /उत्तराखंड /

Dehradun: राजधानी देहरादून का यह गांव जल्द होगा 'प्लास्टिक' मुक्त, गंगादूतों ने शुरू की मुहिम

Dehradun: राजधानी देहरादून का यह गांव जल्द होगा 'प्लास्टिक' मुक्त, गंगादूतों ने शुरू की मुहिम

गौहरी माफी के ग्राम प्रधान रोहित नौटियाल ने कहा कि गंगा ग्राम गौहरी माफी के युवा इसे स्वच्छ गांव बनाने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं. जल्द यह गांव स्वच्छता की दिशा में प्रदेश के लिए मिसाल साबित होगा.

हिना आजमी

देहरादून. संस्कृति और सभ्यता का पोषण करती गंगा नदी लगातार दूषित होती जा रही है. इसे बचाने के लिए नमामि गंगे परियोजना चलाई जा रही है. इसी बीच नमामि गंगे के गंगादूतों और नेहरू युवा केंद्र के वॉलिंटियर्स के माध्यम से नमामि गंगे के अंतर्गत आने वाले देहरादून के गौहरी माफी गांव में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत ‘स्वच्छता पखवाड़ा’ चलाया जा रहा है. नमामि गंगे परियोजना के अंतर्गत गांव के लोगों को शपथ दिलाई जा रही है कि वे हर साल 100 घंटे का श्रमदान करते हुए पौधारोपण करेंगे. इसी के साथ गौहरी माफी गांव को प्लास्टिक मुक्त गांव के लिए भी काम किया जा रहा है.

नमामि गंगे जिला परियोजना के अधिकारी धीरज कुमार दबगरवाल ने जानकारी दी कि नेहरू युवा केंद्र देहरादून की जिला युवा अधिकारी एम टोलिया के मार्गदर्शन में गंगादूतों द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है. लोगों को अपने गांव, शहर, गली-मोहल्लों और अपने आसपास की जगह को स्वच्छ बनाए रखने, पौधारोपण करने और सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने के विषय में जागरूक किया जा रहा है. साथ ही ग्रामीणों को पॉलीथिन उन्मूलन के लिए भी जागरूक किया जा रहा है.

इसी के साथ ही गांव वालों को कचरा प्रबंधन, डोर टू डोर जनसंपर्क और ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को लेकर प्रेरित भी किया गया है. गौहरी माफी गांव के लोगों को गंगा नदी का हमारे जीवन में महत्व, गंगा नदी में गंदगी नहीं करने और गंगा नदी में स्वच्छता व उसकी अविरलता को बनाए रखने के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है.

गौहरी माफी के ग्राम प्रधान रोहित नौटियाल ने कहा कि गंगा ग्राम गौहरी माफी के युवा इसे स्वच्छ गांव बनाने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं. जल्द यह गांव स्वच्छता की दिशा में प्रदेश के लिए मिसाल साबित होगा.

Tags: Azadi Ka Amrit Mahotsav, Dehradun news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर