Home /News /uttarakhand /

big crime news militant killed in kashmir has doon connection know what intelligence searching

Kashmir में ढेर हुए आतंकी का क्या है Dehradun कनेक्शन? एक इंस्टिट्यूट व कश्मीरियों पर इंटेलिजेंस की नजर

देहरादून में पुलिस और खुफिया विभाग आतंकी से जुड़ी जानकारियां जुटा रहे हैं.

देहरादून में पुलिस और खुफिया विभाग आतंकी से जुड़ी जानकारियां जुटा रहे हैं.

पंजाब के मशहूर गायक सिद्धू मूसेवाला की पिछले दिनों हुई हत्या के सिलसिले में उत्तराखंड की राजधानी चर्चा में आ गई थी और अब कश्मीर में मारे गए दो आतंकियों (Militants Killed in Kashmir) में से एक का बैकग्राउंड दून से जुड़ा है. यह भी जानिए कि ऐसा पहले भी कुछ आतंकवादी घटनाओं में हो चुका है.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. देश के किसी भी राज्य में कोई बड़ा आपराधिक घटनाक्रम हो तो, अधिकतर उसके साथ देहरादून का कोई न कोई कनेक्शन ज़रूर जुड़ जाता है. इसी हफ्ते कश्मीर में सुरक्षाबलों के हाथों मारे गए लश्कर-ए-तैय्यबा के आतंकी के साथ देहरादून का नाम जुड़ने से यहां पुलिस और खुफिया विभाग में हलचल बढ़ गई है. जबसे पता चला है कि इस आतंकी ने देहरादून में एजुकेशन के लिए कुछ साल गुज़ारे थे, तबसे यहां उसके कनेक्शनों, साथियों और नेटवर्क को तलाशने की कोशिश की जा रही है.

जानकारी के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षा बलों ने हाल में लश्कर के दो आतंकियों को मार गिराया. ज़ुबेर अहमद मीर के अलावा दूसरा आतंकी इदरीस अहमद डार बताया गया. डार बीते छह अप्रैल को ही आतंकी बना था. श्रीनगर में सुरक्षाबलों ने जैसे ही बताया कि वह देहरादून के एक इंस्टिट्यूट से होटल मैनेजमेंट कर चुका है, वैसे ही स्थानीय पुलिस के कान खड़े हो गए. इंटेलिजेंस विभाग अब इस इंस्टिट्यूट के बारे में पता कर रहा है, तो पुलिस भी उसके नेटवर्क की खोज में जुटी है.

देहरादून में क्या हो रही है छानबीन?
— पुलिस और खुफिया विभाग पता लगा रहे हैं कि इदरीस ने किस इंस्टिट्यूट से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई की.
— इदरीस के साथियों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है.
— सूत्रों के मुताबिक इंस्टीट्यूट के बारे में जानकारी के लिए दो टीमें लगाई गई हैं. यहां रह रहे कश्मीरी छात्रों और युवाओं से भी जानकारी जुटाई जा रही है.
— अधिकारियों का कहना है कि उसके साथियों को खोजकर, उनसे बात करके ये फैक्ट्स जुटाने की कोशिश है कि वह क्या बातें करता था, किसके संपर्क में रहता था, किसे अपना आदर्श मानता था.
— पुलिस ने कश्मीरी युवाओं से बातचीत की है लेकिन अब तक इदरीस के बारे में कुछ पता नहीं चला है.

पहले भी जुड़ चुके हैं दून से आतंक के तार!
अक्टूबर 2018 में शोएब अहमद लोन नाम का बीएससी आईटी का छात्र आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हुआ था. वह देहरादून के एक इंस्टिट्यूट से पढ़ाई कर रहा था. सोशल मीडिया पर उसकी मां ने उसके घर लौटने की गुहार लगाई, तब इंस्टिट्यूट को इस बारे में पता चला. उस वक्त इंस्टिट्यूट ने उसे निलंबित कर दिया था. उसके साथियों से भी पूछताछ की गई थी. पता चला था कि वह अपने कमरे में अकेला रहता था और पाकिस्तान को अपना मुल्क मानता था.

इसके अलावा साल 2020 में कश्मीर में हुए आतंकी हमले के बाद देहरादून की एक यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कश्मीर के तीन छात्रों पर कार्रवाई हुई थी. इन छात्रों ने सोशल मीडिया पर सेना के विरोध में आपत्तिजनक पोस्ट डाले थे. सुरक्षा बलों ने भी इनसे पूछताछ की थी. गौरतलब यह भी है कि पंजाब, हरियाणा समेत खास तौर से उत्तर भारत में होने वाले अपराधों का उत्तराखंड से कनेक्शन जुड़ता रहा है.

Tags: Intelligence agency, Kashmir Terror, Uttarakhand Police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर