लाइव टीवी

सबसे बड़ी मानव श्रृंखला... नगर निगम के रिकॉर्ड के लिए जाम से हलकान हुआ दून

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: November 5, 2019, 12:07 PM IST
सबसे बड़ी मानव श्रृंखला... नगर निगम के रिकॉर्ड के लिए जाम से हलकान हुआ दून
लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स के लिए देहरादून में बनाई जा रही मानव श्रृंखला के लिए शहर की गलियोंं तक में लंबेे जाम लग गए.

एसएसपी ने देहरादून (SSP Dehradun) वासियों से अपील की थी कि ‘एमरजेंसी (Emergency) न हो, तो वह घर से बाहर न निकलें’.

  • Share this:
प्लास्टिक और ख़ासतौर पर सिंगल यूज़ प्लास्टिक के ख़िलाफ़ प्रधानमंत्री के अभियान छेड़ने के बाद देश भर में, ख़ासतौर पर बीजेपी नेताओं में इसके लिए श्रेय लेने की होड़ मच गई है. अनूठे प्रयोगों के लिए जाना जाने वाला देहरादून नगर निगम ने श्रेय की दौड़ में बाज़ी मारने के लिए मानव श्रृंखला का रिकॉर्ड बनाने का फ़ैसला किया. इस मानव श्रृंखला की वजह से लगे जाम से शहर का दम निकल गया और जो भी बाहर निकला वह इसमें फंस गया.

रिकॉर्ड की तैयारी

नगर निगम देहरादून ने सिंगल यूज़ प्लॉस्टिक पर प्रतिबंध के बारे में जन जागरुकता के लिए 50 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाने का ऐलान पहले ही कर दिया था. नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने दावा किया था कि देहरादून देश का पहला शहर होगा जिसका नाम सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ लड़ने के लिए लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में दर्ज होगा.

Jam in Dehradun, मानव श्रृंखला सफल बनाने के लिए 5000 स्कूली बच्चों को भी सड़कों पर उतारा गया है.
मानव श्रृंखला सफल बनाने के लिए 5000 स्कूली बच्चों को भी सड़कों पर उतारा गया है.


मानव श्रृंखला के लिए मंगलवार सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक पूरे शहर में यातायात के लिहाज़ से ज़ीरो-जोन करने का ऐलान कर दिया गया था. एसएसपी ने देहरादून वासियों से अपील की थी कि ‘एमरजेंसी न हो, तो वह घर से बाहर न निकलें’. सुरक्षा को देखते हुए मानव श्रृंखला पर ड्रोन से नज़र रखी जानी थी.

जाम से हलकान जनता  

मंगलवार की सुबह ऐसा लगा कि शायद दूनवासियों तक एसएसपी की अपील नहीं पहुंची और लोग रोज़ की तरह ही अपने काम के लिए निकले. नतीजा यह हुआ कि पूरा शहर ही जाम से हलकान हो गया. शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा को बिना खीझे, बिना चिढ़े और एक-डेढ़ घंटा लेट हुए बिना अपने गंतव्य तक पहुंचा हो.
Loading...

Jam in Dehradun, मंगलवार को देहरादून शहर में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो समय पर अपने गंतव्य तक पहुंच पाया हो.
मंगलवार को देहरादून शहर में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो समय पर अपने गंतव्य तक पहुंच पाया हो.


न्जूज़ 18 संवाददाताओं ने भी यह सब झेला और खुद कई-कई किलोमीटर के चक्कर लगाकर, गलियों में घुसते-निकलते हुए ऑफ़िस पहुंचे. लोगों को पुलिस से उलझते और चिल्लाते-झींखते भी देखा गया और ट्रैफ़िक में स्कूली बच्चे फंसते भी दिखे.

ये भी देखें: 

PHOTOS: तड़पाए-तरसाए रे और जाम लगवाए रे... हाय,  देहरादून की सर्दी

देहरादून में ऋषिकेश रिपीट करने की तैयारी… विभाग करे अतिक्रमण, कीमत चुकाएं लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 11:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...