अपना शहर चुनें

States

उत्तराखंडः इलेक्शन मोड में आए CM त्रिवेंद्र रावत, मंत्रियों को 'मोदी स्टाइल' फॉलो करने का निर्देश

Dehradun News: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सरकार के मंत्रियों को बीजेपी की गाइडलाइन समझाई.
Dehradun News: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सरकार के मंत्रियों को बीजेपी की गाइडलाइन समझाई.

Dehradun News: उत्तराखंड में सालभर बाद होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए BJP ने कसी कमर. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (CM TS Rawat) ने 13 जिलों के प्रभारी मंत्रियों को कार्यकर्ताओं के घर-घर जाकर 'चाय पर चर्चा' (Chai Pe Charcha) करने का दिया निर्देश.

  • Share this:
हल्द्वानी. उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव भले ही 2022 (Assembly Election) में हों, लेकिन सरकार पूरी तरह से चुनावी मोड में दिख रही है. सरकार के मंत्रियों को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (CM TS Rawat) के सख्त और बदले हुए निर्देश इस ओर साफ इशारा कर रहे हैं. सीएम ने 13 जिलों के प्रभारी मंत्रियों को अपने जिलों के दौरों के निर्देश दे दिए हैं, ताकि सरकार और जनता के बीच बेहतर तालमेल बनाया जा सके. खास बात ये है कि प्रभारी मंत्रियों के अपने जिलों के इस बार के दौरे बिल्कुल अलग रहने वाले हैं. क्योंकि इस दौरान उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की स्टाइल कॉपी करनी होगी.

सीएम रावत के निर्देश पर होने वाले मंत्रियों के ये दौरे, पीएम मोदी के नक्शेकदम पर होंगे. जनवरी-फरवरी के महीने में ये मंत्री निचले पायदान के पार्टी कार्यकर्ता और आम लोगों के साथ चाय की चुस्की लेते दिखेंगे. साथ ही संघ के कार्यकर्ताओं से अलग से बात होगी. यानी मंत्री 2014 वाली पीएम मोदी की 'चाय पर चर्चा' (Chai Pe Charcha) वाली स्टाइल में चर्चा करते दिखेंगे. इसका प्लान जिलों मे बीजेपी के जिलाध्यक्ष तय करेंगे.

नैनीताल जिले के बीजेपी अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने इस बात की पुष्टि करते हुए न्यूज 18 को बताया कि उनके जिले के प्रभारी मंत्री मदन कौशिक ऐसा ही करने जा रहे हैं. 25 और 26 जनवरी को कौशिक नैनीताल जिले के दौरे पर रहेंगे. वे यहां सबसे पहले मंत्री कार्यकर्ताओं और जन प्रतिनिधियों के मन की बात सुनेंगे और उसके बाद अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. प्रदीप बिष्ट के मुताबिक ऐसा प्लान इसलिए बनाया गया है, ताकि कार्यकर्ताओं के मन की बात सुनकर मंत्री अधिकारियों से रिपोर्ट ले सकेंगे. साथ ही कार्यकर्ताओं की समस्याओं का निदान कर सकेंगे.

कांग्रेस ने उठाए दौरों पर सवाल


प्रभारी मंत्रियों के जिलों में दौरों का मकसद सरकार को जनता के करीब दिखाना है. यह देखते हुए कांग्रेस इन दौरों पर निशाना साधने लगी है. नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि चार साल में राज्य के भीतर कोई काम नहीं हुआ, केवल दौरे ही दौरे हुए हैं. ऐसे में मंत्रियों के आने वाले दिनों में होने वाले दौरों से भी जनता कोई कोई उम्मीद नहीं है.



बहरहाल, विधानसभा चुनाव की आहट को देखते हुए राज्य सरकार गियर बदल रही है, तो विपक्ष निशाना साध रहा है. विधानसभा चुनाव में एक साल से भी कम का वक्त बचा है, ऐसे में सत्ता की चाबी पाने के लिए दोनों दलों के बीच जोर-आजमाइश होने लगी है. जाहिर है बीजेपी की तरफ से सीएम रावत को इसके लिए PM मोदी की ड्राइविंग स्टाइल ज्यादा मुफीद लग रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज