लाइव टीवी

पंचायत चुनाव पर हाईकोर्ट के फ़ैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकती है बीजेपी, चुनाव प्रक्रिया पर असर नहीं पड़ेगा

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: September 19, 2019, 3:30 PM IST
पंचायत चुनाव पर हाईकोर्ट के फ़ैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकती है बीजेपी, चुनाव प्रक्रिया पर असर नहीं पड़ेगा
राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने कहा है कि हाईकोर्ट के ताज़ा फ़ैसले से चुनाव प्रक्रिया में कोई बाधा नहीं आएगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शुक्रवार से नामांकन प्रक्रिया शुरु होनी है और बीजेपी कांग्रेस से लीड लेते हुए आज ही अपने प्रत्याशियों के नामों का ऐलान करने जा रही थी कि हाईकोर्ट का फ़ैसला आ गया.

  • Share this:
देहरादून. पंचायती राज संशोधन एक्ट पर हाईकोर्ट के फ़ैसले से उत्तराखंड की राजनीति में उथल-पुथल मच गई है. कल से नामांकन प्रक्रिया शुरु होनी है और बीजेपी कांग्रेस से लीड लेते हुए आज ही अपने प्रत्याशियों के नामों का ऐलान करने जा रही थी कि हाईकोर्ट का फ़ैसला आ गया. बीजेपी में इस फ़ैसले को लेकर मंथन जारी है और सूत्रों का कहना है कि हाईकोर्ट के फ़ैसले को पार्टी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकती है. इस बीच राज्य निर्वाचन आयोग ने कहा है कि हाईकोर्ट के फ़ैसले से चुनाव प्रक्रिया में कोई बाधा नहीं आएगी और यह बदस्तूर जारी रहेगी.

यह है मामला 

बता दें कि राज्य सरकार जून में पंचायती राज संसोधन विधेयक 2019 लाई थी जिसे राज्यपाल की मंज़ूरी के बाद तुरंत प्रभाव से लागू कर दिया गया था. इस एक्ट का सबसे बड़ा असर यह हुआ था कि दो से ज़्यादा बच्चे वाले चुनाव नहीं लड़ सकते थे. इसके अलावा चुनाव लड़ने के लिए शैक्षिक योग्यता भी निर्धारित कर दी गई थी. इसे चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के बाद आज हाईकोर्ट ने फ़ैसला सुनाया कि पंचायती राज संशोधन कानून राज्य में 25 जुलाई, 2019 के बाद लागू होगा. यानि कि 25 जुलाई, 2019 से पहले जिनके दो से ज़्यादा बच्चे होंगे वह पंचायत चुनाव लड़ पाएंगे.

बीजेपी की रणनीति गड़बड़ाई

हाईकोर्ट के इस फ़ैसले से बीजेपी की रणनीति गड़बड़ा सकती है क्योंकि अब तक वह ऐसे ही प्रत्याशियों को ढूंढ रही थी जिनके अधिकतम दो ही बच्चे हों. अब बीजेपी के अंदर ही दो से ज़्यादा बच्चे वाले दावेदारी कर सकते हैं. ज़ाहिराना तौर पर बीजेपी इस स्थिति को टालना चाहेगी. इसलिए पार्टी सूत्रों से पता चला है कि बीजेपी हाईकोर्ट के इस फ़ैसले को सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज करने जा रही है.

प्रक्रिया पर फ़र्क नहीं 

इस बीच राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने कहा है कि हाईकोर्ट के ताज़ा फ़ैसले से चुनाव प्रक्रिया में कोई बाधा नहीं आएगी, सारी प्रक्रिया पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही चलेगी. राज्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि हाइकोर्ट के आदेश का अक्षरक्षः पालन किया जाएगा.ये भी देखें:

दो से ज़्यादा बच्चों वाले भी लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव, 25 जुलाई के बाद लागू होगा नया पंचायत कानून 

पंचायत चुनाव: आज शाम तक बीजेपी कर सकती है अपने उम्मीदवारों का ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 3:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर