BJP MLA यौन शोषण केस: आरोपित महिला के पति ने बताया अपनी जान को खतरा, दून आने से किया इनकार
Dehradun News in Hindi

BJP MLA यौन शोषण केस: आरोपित महिला के पति ने बताया अपनी जान को खतरा, दून आने से किया इनकार
मामले की जांच पुलिस कर रही है. (File)

BJP MLA Mahesh Negi Sexual Exploitation Case: पुलिस अब आरोपी महिला और विधायक की पत्नी की बीच हुआ व्हाट्सएप चैटिंग (Whatsapp Chat) की जांच करेगी.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड की सुर्खियों में शुमार द्वाराहाट बीजेपी विधायक महेश नेगी (Mahesh Negi) यौन शोषण और ब्लैकमेल (Blackmail) मामले में एक और नया मोड़ सामने आया है. विधायक पत्नी द्वारा दी गई ब्लैकमेलिंग की तहरीर में आरोपित महिला के पति को भी ब्लैकमेलिंग में शामिल बताया गया था. इस पर पुलिस ने आरोपी महिला के पति से भी सम्पर्क किया और बयान दर्ज कराने देहरादून बुलाया गया. वहीं आरोपी महिला के पति ने पुलिस को फोन पर बताया है कि वो फिलहाल देहरादून नहीं आ सकता क्योंकि यहां उसकी जान को खतरा है. इसलिए वो बयान देने के लिए आने में असमर्थ है.

फ़िरौती मांगने का आरोप 

बता दें शुक्रवार 13 अगस्त को आरोपी महिला प्रीति के खिलाफ नेहरु कॉलोनी थाने में FIR दर्ज करवाई थी. इसमें आरोप लगाया गया है कि महिला, विधायक पर शोषण का आरोप न लगाने की एवज में पांच करोड़ रुपये की फिरौती मांग रही थी.



वहीं मामला प्रकाश में आने पर पुलिस ने महिला को थाने में बुलाकर पूछताछ की थी. इसके बाद महिला ने शनिवार को विधायक के खिलाफ जांच करने और FIR दर्ज करने की मांग की.
पुलिस इंवेस्टिगेशन में पता चला है कि व्हाट्सएप चैटिंग में आरोपित महिला और विधायक की पत्नी के बीच पैसों की लेनदेन की बातचीत हुई है. लेकिन ये किस कारण हुई है उसकी भी पुलिस जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें: COVID-19: हरियाणा में शनिवार और रविवार बंद रहेंगी दुकानें, नहीं खुलेंगे ऑफिस, मिलेगी सिर्फ जरूरी सेवा

महिला ने किया दावा

5 पेजों वाली इस तहरीर में महिला ने दावा किया कि विधायक महेश नेगी ने मदद के नाम पर उसके साथ दुराचार किया था. बाद में उसे डरा धमका कर नेपाल, मसूरी, यूपी, हल्द्वानी के अलग-अलग इलाकों में लेजा कर शारीरिक संबंध बनाए थे. साथ ही दावा किया कि उसके बच्ची के पिता विधायक महेश नेगी हैं लिहाज़ा कोर्ट के माध्यम से बच्ची का DNA टेस्ट करवाया जाए. पुलिस का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है विधायक ने बुधवार को सीओ सदर के ऑफिस पहुंचकर अपना बयान दर्ज करवाया है और आगे भी मामले में पुलिस का सहयोग करने की बात कही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज