बीजेपी विधायक की पत्नी ने 'सौतन' की जान को बताया खतरा... पुलिस से उसके लिए मांगी सुरक्षा
Dehradun News in Hindi

बीजेपी विधायक की पत्नी ने 'सौतन' की जान को बताया खतरा... पुलिस से उसके लिए मांगी सुरक्षा
देहरादून पुलिस के अनुसार इस मामले में उन्हें 4 एप्लीकेशन मिली हैं. इनमें से एप्लिकेशन पर मुक़दमा दर्ज हुआ था और अन्य की जांच चल रही है.

विधायक की पत्नी ने रविवार को भी एक देहरादून पुलिस को एक तहरीर दी थी. इसमें उन्होंने आरोपी महिला से उसकी ही बेटी को खतरा बताया था.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड के द्वाराहाट विधानसभा से बीजेपी विधायक महेश नेगी के एक शादीशुदा महिला के साथ कथित सम्बन्ध होने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. मामले में जहां कांग्रेस बीजेपी को घेरने के लिए महिला को इंसाफ़ दिलाने की बात कह रही है तो वहीं विधायक की पत्नी ने पुलिस को एक और तहरीर दी है. इसमें विधायक पत्नी ने अपने पति की बेटी की मां होने का दावा करने वाली महिला की जान को खतरा बताते हुए उसे सुरक्षा देने  की मांग की है. विधायक की पत्नी इस मामले में अब तक देहरादून पुलिस को तीन तहरीर दे चुकी हैं.

ब्लैकमेलिंग की कोशिश

दून के एसएसपी, डीआईजी अरुण मोहन जोशी को दी तहरीर में विधायक महेश नेगी की पत्नी रीता नेगी ने आरोप लगाया है कि उनके पति की बेटी की मां होने का दावा करने वाली महिला के कई राजनीतिक व्यक्तियों के साथ सम्बन्ध हैं. ये नेता बीजेपी विधायक उनके पति से राजनीतिक द्वेष रखते हैं. इसलिए ये उस महिला के साथ कुछ गलत कर सकते हैं ताकि आरोप महेश नेगी पर लग जाए. इसलिए आरोपी महिला को पुलिस सुरक्षा दी जाए.



बता दें कि विधायक की पत्नी ने रविवार को भी एक देहरादून पुलिस को एक तहरीर दी थी. इसमें उन्होंने आरोपी महिला से उसकी ही बेटी को खतरा बताया था. इससे पहले शुक्रवार, 14 अगस्त को विधायक पत्नी ने नेहरु कॉलोनी थाने में नामजद FIR दर्ज करवाई थी. इसमें कहा गया था कि एक शादीशुदा महिला उनके विधायक पति को ब्लैकमेल कर रही है और यौन शोषण का आरोप न लगाने के एवज़ में पांच करोड़ रुपये की फ़ीरौती मांग रही है.

मदद के नाम पर दुराचार

एफ़आईआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने महिला को थाने में बुलाकर पूछताछ की थी. इसके बाद उस महिला ने शनिवार को विधायक के खिलाफ जांच करने और FIR दर्ज करने की मांग करते हुए देहरादून पुलिस को तहरीर दे दी. पांच पन्नों वाली इस तहरीर में महिला ने दावा किया कि विधायक महेश नेगी ने उसको मदद के नाम पर उसके साथ दुराचार किया.

इसके बाद में उसको डरा धमका कर नेपाल, मसूरी, यूपी, हल्द्वानी के अलग-अलग इलाकों में ले जाकर उससे शाररिक संबन्ध बनाए. तहरीर में यह दावा भी किया गया कि उसकी बच्ची के पिता विधायक महेश नेगी ही हैं इसलिए कोर्ट के माध्यम से बच्ची का DNA टेस्ट करवाया जाए.

देहरादून के एसएसपी, डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि इस मामले में उन्हें 4 एप्लीकेशन मिली हैं. इनमें से एप्लिकेशन पर मुक़दमा दर्ज हुआ था और अन्य की जांच चल रही है. जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज