Uttarakhand News: कोरोना की चपेट में आए BJP सांसद अनिल बलूनी, खुद को किया आइसोलेट

सांसद अनिल बलूनी दूसरी बार कोरोना पॉजिटिव हुए हैं.

सांसद अनिल बलूनी दूसरी बार कोरोना पॉजिटिव हुए हैं.

उत्तराखंड से बीजेपी के राज्यसभा सांसद, पार्टी के मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता और कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के हेड अनिल बलूनी (BJP MP Anil Baluni) कोरोना की चपेट में आ गए हैं. उन्‍होंने इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की है.

  • Share this:
देहरादून. कोरोना (COVID-19) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. देशभर में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और हर रोज नए-नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. इस बीच उत्तराखंड से बीजेपी के राज्यसभा सांसद, पार्टी के मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता और कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के हेड अनिल बलूनी (BJP MP Anil Baluni) के भी कोरोना पॉजीटिव होने की खबर है. बंगाल समेत अन्य राज्यों में पार्टी की प्रचार रणनीति को लेकर इन दिनों सबसे सक्रिय अनिल बलूनी ने अपने कोरोना संक्रमित होने की जानकारी खुद सोशल मीडिया के जरिए शेयर की है.

बलूनी ने लिखा, 'मित्रों, आज मेरी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. मैंने तत्काल उपचार प्रारम्भ कर दिया है. कोरोना का प्रभाव बढ़ रहा है. आप सभी अपना ध्यान रखें.'

Youtube Video


बता दें कि अनिल बलूनी हाल ही में उत्तराखंड के दौरे पर आए थे और वो लंबे समय बाद अपने गांव भी गए थे. यही नहीं, उन्‍होंने इस दौरे पर ऋषिकेश, हरिद्वार, रामनगर और हल्द्वानी में पार्टी कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात की थी. कैंसर होने के कारण अनिल बलूनी का लंबे समय तक मुंबई में इलाज चला. जबकि एक साल पहले वो कोरोना को हराकर वापस लौटे हैं और अब वो फिर से राजनीति में सक्रिय हैं. लेकिन उनके कोरोना संक्रमित होने से उनके चाहने वाले परेशान हैं और भगवान से उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं.
उत्तराखंड को लेकर लगातार सक्रिय रहते हैं बलूनी

अनिल बलूनी का ज्यादातर समय बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यक्रमों के कारण दिल्ली में ही बीतता है, लेकिन वो उत्तराखंड की समस्याओं को लेकर संसद से लेकर मंत्रालयों तक में सक्रिय रहते हैं. पानी की समस्या हो, अस्पतालों में आईसीयू की सुविधा, आधुनिक कैंसर अस्पताल का निर्माण, कलर डॉप्लर राडार, नई ट्रेनें चलाने से लेकर मोबाइल कनेक्टिविटी तक की समस्याओं को अनिल बलूनी न सिर्फ संसद में उठाया है बल्कि इसमें से कई योजनाओं पर काम पूरा भी हो चुका है और कुछ में काम जारी है.

उत्तराखंड में उठाए जा रहे हैं सख्त कदम



कोरोना के बीच हरिद्वार में महाकुंभ का दौर जारी है, जहां 12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या के दिन लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई. इस शाही स्नान से पहले अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी और कई संत कोरोना पॉजीटिव आ चुके हैं. सरकार ने हाईकोर्ट के निर्देश पर कुंभ में कोरोना रिपोर्ट लेकर आने वालों को ही एंट्री देने का फैसला लिया है. इसके साथ ही नैनीताल, हल्द्वानी और देहरादून में स्कूलों को बंद करने का फैसला लेना पड़ा है. जबकि बारातों में भी गेस्ट की संख्या 200 तक सीमित कर दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज