आस्थापथ पर कब्ज़ा कर लिया था होटल ने, अफ़सर रहे चुप, स्थानीय युवाओं ने तोड़ा

आज जब होटल के कर्मचारियों ने गंगा किनारे अतिक्रमण करने की कोशिश की तो स्थानीय युवाओं ने खुलकर विरोध करना ही शुरू नहीं किया बल्कि अवैध गेट को भी तोड़ दिया.

Shalendra Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: June 14, 2018, 7:07 PM IST
आस्थापथ पर कब्ज़ा कर लिया था होटल ने, अफ़सर रहे चुप, स्थानीय युवाओं ने तोड़ा
सहकारिता मंत्री धन सिंह रावत ने गुरुवार को विभाग की डीपीआर की समीक्षा की. उन्होंने बताया कि जल्द ही इसे कैबिनेट में रखा जाएगा.
Shalendra Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: June 14, 2018, 7:07 PM IST
तीर्थनगरी ऋषिकेश में गंगा किनारे लगातार अवैध निर्माण कार्य धड़ल्ले से हो रहे हैं और अधिकारी आंख मूंदे बैठे हैं. लेकिन इस बार युवाओं ने प्रशासन का इंतजार न करके आस्थापथ पर हो रहे निर्माण कार्य को ध्वस्त कर दिया.

तीर्थनगरी में अवैध निर्माण कोई नई बात नहीं है, लेकिन अब भूमाफिया गंगा तट पर बने आस्था पथ को भी नुकसान पहुंचाने में नहीं हिचक रहे हैं. ज़िम्मेदार अधिकारियों का इस ओर ध्यान नहीं है और इससे स्थानीय लोगों में आक्रोष बढ़ रहा है. गंगा किनारे अवैध निर्माण का विरोध ऋषिकेश के युवाओं ने संगठित होकर करना शुरू कर दिया है.

गुजरात के उद्योगपति बीके मोदी ऋषिकेश में एस फाउन्डेशन नाम से एक होटल बना रहे हैं जो अवैध निर्माण के कारण कई बार विवादों में आ चुका है, लेकिन मोदी के प्रभाव के आगे अधिकारी नतमस्तक दिखते हैं. हाल ही में होटल बना रहे ठेकेदार ने आस्था पथ पर बने सरकारी पुश्ते को तोड़कर उसमें गेट लगा दिया.

आज जब होटल के कर्मचारियों ने गंगा किनारे अतिक्रमण करने की कोशिश की तो स्थानीय युवाओं ने खुलकर विरोध करना ही शुरू नहीं किया बल्कि अवैध गेट को भी तोड़ दिया. इसके बाद नगर निगम के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और निर्माण कर रहे ठेकेदार से संबंधित दस्तावेज मांगे और उपलब्ध न होने पर उन्होंने फिर से पुश्ता बनाने के निर्देश दिए.

युवाओं ने ऐलान कर दिया है कि तीर्थनगरी में और ख़ासकर गंगा किनारे अब कोई भी अवैध निर्माण नहीं होने दिया जाएगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर