गैरसैंण बना उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी... राज्यपाल की मंज़ूरी के बाद अधिसूचना जारी
Dehradun News in Hindi

गैरसैंण बना उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी... राज्यपाल की मंज़ूरी के बाद अधिसूचना जारी
गैरसैंण में हुए ग्रीष्मकालीन सत्र में गैरसैंण को राजधानी बनाने के ऐलान के 3 महीने बाद राज्यपाल ने विधेयक को मंज़ूरी दी.

मुख्यमंत्री समेत बीजेपी ने इसे ऐतिहासिक दिन बताया है तो कांग्रेस सवाल पूछ रही है कि उत्तराखंड की स्थाई राजधानी कौन सी है?

  • Share this:
देहरादून. आखिरकार गैरसैंण उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी बन ही गई. गैरसैंण में हुए ग्रीष्मकालीन सत्र में गैरसैंण को राजधानी बनाने के ऐलान के 3 महीने बाद राज्यपाल ने विधेयक को मंज़ूरी दे दी और इसके साथ ही गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने की अधिसूचना जारी कर दी गई. ग्रीष्मकालीन राजधानी में कितने समय और कैसे काम होगा अभी यह साफ़ नहीं है लेकिन इसे लेकर अस्थाई राजधानी देहरादून में बयानबाज़ी शुरु हो गई है. मुख्यमंत्री समेत बीजेपी ने इसे ऐतिहासिक दिन बताया है तो कांग्रेस सवाल पूछ रही है कि उत्तराखंड की स्थाई राजधानी कौन सी है?

ऐतिहासिक दिन

गैरसैंण को ग्रीष्म कालीन राजधानी बनने के नोटिफिकेशन पर ख़ुशी जताते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने इस फैसले के लिए प्रदेश की जनता को बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह उत्तराखंड आंदोलन और जन भावनाओं से जुड़ा फैसला है. सीएम ने कहा कि 4 मार्च 2020 और 9 नवंबर 2000 की तरह ये दिन भी ऐतिहासिक है. न्यूज़ 18 के इस सवाल पर कि गैरसैंण में कितने महीने कामकाज होगा, मुख्यमंत्री ने जवाब दिया कि इस पर प्लान बनाया जाएगा.



विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने भी गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाए जाने की अधिसूचना जारी होने पर पर प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए राज्यपाल का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व में सरकार ने सभी राज्य आंदोलनकारियों और प्रदेशवासियों के सपनों को साकार करने का काम किया है. अग्रवाल ने कहा कि यह राज्य के शहीद आंदोलनकारियों को सच्ची श्रद्धांजलि है.
स्थाई राजधानी कहां?

गैरसैंण के ग्रीष्मकालीन राजधानी के रूप में अस्तित्व में आने के साथ ही इस पर राजनीति भी तेज़ हो गई है. बीजेपी ने श्रेय लेने की कोशिश शुरु की तो कांग्रेस ने सवाल उठाने शुरु किए. पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस नोटिफिकेशन के लिए ट्वीट कर मुख्यमंत्री को बधाई भेजी और साथ ही सवाल दागा कि अगर गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी है और देहरादून अस्थाई राजधानी तो फिर राज्य की राजधानी कहां हैं?

कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने इसके साथ ही यह भी कहा कि सरकार कोरोना संक्रमण को रोकने में पूरी तरह विफल रही है और इससे जनता का ध्यान भटकाने के लिए कोरोना काल में ग्रीष्मकालीन राजधानी का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है.

कन्फ़्यूज़ है कांग्रेस

कांग्रेस के इस सवाल का जवाब देते हुए कैबिनेट मंत्री और शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने कहा कि कांग्रेस कन्फयूज है. कौशिक ने कहा कि कांग्रेस को इस मुद्दे पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है. वह सिर्फ राजधानी विरोधी ही नहीं, राज्य की विरोधी भी रही है.

ये भी देखें: 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading