चमकी ने डराया... लीची का ख़ौफ़ बैठाया

70 से 100 रुपये किलों बिक रही लीची को अब लोग 25-30 रुपये में भी खरीदने को तैयार नहीं है.

News18 Uttarakhand
Updated: June 26, 2019, 3:32 PM IST
चमकी ने डराया... लीची का ख़ौफ़ बैठाया
चमकी बुखार के ख़ौफ़ से उत्तराखंड में भी लीची के कारोबार पर असर पड़ा है.
News18 Uttarakhand
Updated: June 26, 2019, 3:32 PM IST
बिहार में चमकी बुखार या एईएस के लीची की वजह से होने की ख़बरों का असर उत्तराखंड के लीची कारोबार पर भी पड़ा है. उत्तराखण्ड के ऊधम सिंह नगर और देहरादून में लीची की पैदावार सबसे ज्यादा होती है लेकिन इन्हीं दो ज़िलों में चमकी बुखार को लेकर जारी अलर्ट के बाद लोगों ने लीची फल को खरीदने से किनारा कर लिया और सस्ते दामों में भी लोग लीची खरीदने को तैयार नहीं. हालत तो यह हो गई है कि 70 से 100 रुपये किलों बिक रही लीची को अब लोग 25-30 रुपये में भी खरीदने को तैयार नहीं है.

रिएलिटी चेक

चमकी बुखार से लीची के बाज़ार में आए फ़र्क को लेकर बात करने पर दुकानदारों की अलग-अलग प्रतिक्रियाएं मिलीं. दुकानदार अनिल ने माना कि बिहार में चमकी बुखार का असर उनके लीची के व्यापार पर पड़ा है. वह परेशान हैं कि इसकी वजह से हुए घाटे को पूरा कहां से करेंगे?

चमकी बुखार का ख़तरा तो यहां भी है... अगले दो हफ़्ते तक बरतें ये सावधानियां

न्यूज़18 ने कुछ महिलाओं से भी इसके बारे में बात की तो वह चमकी बुखार के लिए लीची को ज़िम्मेदार ठहराती दिखीं. महिलाओं का कहना है कि कहीं न कहीं मन में तो यह आ ही जाता है कि लीची के कारण वो किसी बड़ी मुसीबत में न फंस जाए. फिर सबसे बड़ा सवाल यह है कि बच्चों की सेहत से रिस्क क्यों लेना? लीची ही अकेला फल तो नहीं है, बच्चे कुछ और खा लेंगे.

उत्तराखण्ड में भी कारोबार धड़ाम

चमकी बुखार से हिमाचल में लीची के व्यापार पर पड़ा असर अब उत्तराखण्ड में भी साफ़ दिख रहा है. इसका बड़ा कारण सोशल मीडिया भी है. सोशल मीडिया में वायरल लीची के वीडियो में दिखाए गए कीड़ों की वजह से भी लोगों ने लीची खरीदना कम कर दिया है.
(देहरादून से सबिहा परवीन की रिपोर्ट)

चमकी से उत्तराखंड भी सावधान... सीएम ने स्वास्थ्य विभाग को दिए कुछ ख़ास निर्देश

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...