Assembly Banner 2021

Chamoli Glacier Tragedy: अब तक निकाले जा चुके 70 से ज्यादा शव, 1 महीने बाद पटरी पर लौट रही जिंदगी

चमोली में ग्लेशियर हादसे को आज एक महीने पूरे हो गए. (File Pic)

चमोली में ग्लेशियर हादसे को आज एक महीने पूरे हो गए. (File Pic)

Chamoli Glacier Tragedy: उत्तराखंड में ग्लेशियर ढहने से आई त्रासदी के आज एक महीने पूरे हो गए. प्राकृतिक आपदा में अब तक 70 शव बरामद हो चुके हैं, लापता लोगों की तलाश जारी है.

  • Share this:
देहरादून/चमोली. चमोली. तपोवन जल प्रलय को आज पूरा एक महीना हो गया. डर, दुख, यादों और आंसुओं से भरा ये एक महीना ऐसे बीत गया जैसे कल ही बात हो. दुनिया के लिए शायद कुछ न बदला हो, लेकिन यहां के रहवासियों के लिए दुनिया ही बदल गई. 7 फरवरी को ग्लेशियर टूटने से अचानक नदी में आई तबाही में कई ज़िंदगियां खत्म हो गई थीं. नदी में आए सैलाब ने दो बिजली परियोजनाओं को भी तबाह कर दिया. इस तबाही में 204 लोग लापता हो गए थे. रेस्क्यू टीम्स ने 70 से ज्यादा शव बरामद कर लिए हैं, वहीं जो लोग अब भी लापता हैं उनको मृत मान लिया गया है, ताकि उनके परिवार भी मदद के हकदार बन पाए.

घटना के बाद ऋषि गंगा की जल प्रलय में रैणी गांव के पास मलारी हाईवे पर 90 मीटर लंबा मोटर पुल बह गया था, जिसकी वजह से 13 गांव अलग-थलग पड़ गए थे. वहां अब वैली ब्रिज का निर्माण कर आवाजाही शुरू करवाई गई है. बहरहाल आपदा से जूझ रहे इलाके में अब धीरे-धीरे पटरी पर लौटने लगी है.

Youtube Video

NTPC का पावर प्रोजेक्ट हुआ था तबाह

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज