चार धाम यात्री खुद रखें अपना ख़्याल... अगले 5 दिन गरज के साथ बसेंगे बादल, प्रशासन ख़ामोश

पर्वतीय क्षेत्रों में अगले पांच दिन तापमान 2-3 डिग्री कम रहने और मैदानी क्षेत्रों में सामान्य रहने की संभावना है.

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: May 15, 2019, 6:21 PM IST
चार धाम यात्री खुद रखें अपना ख़्याल... अगले 5 दिन गरज के साथ बसेंगे बादल, प्रशासन ख़ामोश
केदारनाथ में मंगलवार को बारिश और बर्फ़बारी की वजह से रास्तों में फ़िसलन हो गई थी और प्रशासन ने यात्रा को गौरीकुंड, सोनप्रयाग में ही रोक दिया था.
Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: May 15, 2019, 6:21 PM IST
उत्तराखंड का मौसम इस बार भक्तों की परीक्षा ले रहा है. केदारनाथ और बदरीनाथ में मंगलवार को बर्फ़बारी की वजह से तीर्थयात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था. अब मौसम विभाग ने फिर अगले पांच दिन तक गरज के साथ बारिश की चेतावनी दी है लेकिन चार धाम यात्रा का आयोजन कर रहे पर्यटन विभाग या रुद्रप्रयाग, चमोली प्रशासन ने एहतिहात बरतने की कोई सलाह जारी नहीं की है.

केदारनाथ: क्यों खड़े हो रहे हैं श्रद्धालुओं के लिए मुश्किलों के पहाड़



बता दें कि बारिश की वजह से सुबह की केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में ही रोक लिया गया था जिसकी वजह से दोनों जगह बहुत भीड़ हो गई थी. रास्ते में फंस गए श्रद्धालुओं को ज़िला प्रशासन ने होटल में रुकने की सलाह दी थी या फिर बदरीनाथ जाने को कहा था.

वैज्ञानिक की सलाह... केदारनाथ में इस बार थोड़ा संभलकर

देश-विदेश से आए तीर्थयात्रियों को इस दिक्कत के लिए अगले पांच दिन भी तैयार रहना चाहिए क्योंकि मंगलवार के अनुभव से रुद्रप्रयाग प्रशासन कोई सबक लेता नहीं दिख रहा है. मौसम विभाग अगले पांच दिन तक पहाड़ी इलाकों में चमक के साथ बारिश की चेतावनी दी ही है चारों धामों में गरज के साथ बारिश की संभावना जताई है.

सस्ती हुई केदारनाथ की हवाई यात्रा, आधा हुआ किराया

 चार धाम के लिए जारी होने वाले मौसम के विशेष अनुमान के अनुसार जोशीमठ से बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब तक गरज के साथ बादल बरस सकते हैं. इसके साथ ही टिहरी से उत्तरकाशी, उत्तरकाशी से गंगोत्री और यमुना घाटी में टिहरी से बड़कोट और बड़कोट से यमुनोत्री तक भी गरज के साथ बादल बरसने की चेतावनी दी गई है.

निरीक्षण के बाद डीएम ने कहा- बर्फबारी से केदारनाथ में हुआ करीब 2 करोड़ का नुकसान

मौसम विभाग ने इसके साथ ही राज्य के मैदानी क्षेत्रों में, ख़ासकर हरिद्वार और ऊधम सिंह नगर में 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से हवाएं चलने की चेतावनी भी दी है. पर्वतीय क्षेत्रों में अगले पांच दिन तापमान 2-3 डिग्री कम रहने और मैदानी क्षेत्रों में सामान्य रहने की संभावना है. इसके बाद धीरे-धीरे तापमान में वृद्धि होगी.

EXCLUSIVE: देखिए बदरीनाथ में अब भी दरक रही है पहाड़ों पर बर्फ़

VIDEO: भूस्खलन के चलते बदरीनाथ हाईवे लगातार दूसरे दिन बाधित

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार