Home /News /uttarakhand /

char dham yatra updates three lakh devotees visit 43 die ritu khanduri defends arrangements amid complaints

Char Dham Files: चार धाम में 15 दिन में 6.34 लाख श्रद्धालु पहुंचे, मौतें 43... ये हैं यात्रियों की शिकायतें

चार धाम में मृतकों का नया आंकड़ा 43 बताया गया.

चार धाम में मृतकों का नया आंकड़ा 43 बताया गया.

सरकार लगातार दावा कर रही है कि व्यवस्थाएं ठीक हैं, लेकिन पानी, फूड आइटम से लेकर कमरों तक मनमाफिक दाम यात्रियों से वसूले जा रहे हैं. अब तो यात्रियों को शिकायत है कि वो चारों धाम के दर्शन नहीं कर सकेंगे! जानिए किस धाम में कितने श्रद्धालु अब तक पहुंच चुके हैं और कहां कितनी मौतें हुई हैं.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. चार धाम यात्रा में दो हफ्तों के बाद श्रद्धालुओं का ताज़ा डेटा बता रहा है कि अब तक चारों धामों में 6 लाख 34 हज़ार श्रद्धालु पहुंच चुके हैं. यह सरकारी आंकड़ा जारी करते हुए यह भी दोहराया गया कि रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया गया है और सरकार यात्रा के सुचारू संचालन के लिए सभी प्रयास कर रही है. चूंकि यह खबर आ चुकी है कि केदारनाथ और गंगोत्री व यमुनोत्री के लिए मई महीने के बुकिंग स्लॉट फुल हो चुके हैं इसलिए अब श्रद्धालुओं की शिकायतें भी सामने आ रही हैं. हालांकि भाजपा सरकार में विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी ने व्यवस्थाओं का बचाव किया.

चार धाम यात्रा को लेकर इस बार श्रद्धालुओं मैं काफी उत्साह दिखाई दे रहा है. बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहाड़ों में पहुंच रहे हैं, लेकिन इस बीच हार्ट अटैक और माउंटेन सिकनेस के चलते मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है. 16 मई तक के आधिकारिक आंकड़े के हिसाब से 43 श्रद्धालुओं की मौत हुई. यानी यात्रा के दो हफ्तों के भीतर हर रोज़ औसतन 3 यात्री काल के गाल में समा गए. सबसे ज़्यादा 18 मौतें केदारनाथ में हुईं. इसके बाद यमुनोत्री में 14, बद्रीनाथ में 8 और गंगोत्री में 4 यात्रियों की मृत्यु हुई.

किस धाम में अब तक कितने श्रद्धालु पहुंचे?
बद्रीनाथ में 1,76,974
केदारनाथ में 2,33,989
गंगोत्री में 1,22,325
यमुनोत्री में 1,00,527

इधर, यात्रा पर निकले श्रद्धालुओं को व्यवस्थाओं में कई तरह की शिकायतें पेश आ रही हैं. एक श्रद्धालु ने बताया, चारों धामों में से सिर्फ एक ही धाम के दर्शन कर पा रहे हैं. 2 साल के बाद चार धाम यात्रा का मौका मिल रहा है, लेकिन रजिस्ट्रेशन केंद्र पर सिर्फ एक ही धाम के लिए रजिस्ट्रेशन हो रहा है. श्रद्धालुओं का यह भी कहना है रजिस्ट्रेशन केंद्र पर लोगों की काफी भीड़ है और न तो यहां व्यवस्थाएं हैं और न ही कोरोना संक्रमण को लेकर कोई एहतियात. 3 घंटे तक लाइनों में खड़े रहना श्रद्धालुओं की मजबूरी है.

व्यवस्था पर क्या कह रहा है सिस्टम?
जिला पर्यटन अधिकारी सुरेश सिंह यादव के मुताबिक तीनों धामों की बुकिंग फुल होने व सिर्फ बद्रीनाथ के लिए रजिस्ट्रेशन होने की सूचना लाउडस्पीकरों से लगातार दी जा रही है. यादव के मुताबिक, यात्रियों के लिए पानी, शौचालय, पंखों और बैठने की व्यवस्था है, जबकि केंद्रों पर लाइनों में लगे श्रद्धालु कह रहे हैं कि कोई व्यवस्था नहीं की गई है. इधर चार धाम यात्रा को लेकर उत्तराखंड की पहली महिला स्पीकर ऋतु खंडूरी ने भी बातचीत की.

हरिद्वार दौरे पर उन्होंने कहा इतनी बड़ी तादाद में जनता पहुंच रही है इसलिए समय लग रहा है. ‘मुझे पूरा विश्वास है चार धाम यात्रा को लेकर सरकार की अच्छी तैयारी है और आगे सुचारू रूप से यात्रा के लिए राज्य सरकार काम कर रही है. देवभूमि में कुछ छोटे मोटे इंसिडेंट हो रहे हैं, लेकिन प्रशासन सब ठीक करने में जुटा हुआ है.’

Tags: Char Dham Yatra, Ritu Khanduri Bhushan, Uttarakhand Tourism

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर