लाइव टीवी

निजी स्कूलों में रिज़र्वेशन सिस्टम लागू करवाना चाहता है बाल आयोग, स्कूलों को ऐतराज़

Bharti Saklani | News18 Uttarakhand
Updated: January 10, 2020, 12:13 PM IST
निजी स्कूलों में रिज़र्वेशन सिस्टम लागू करवाना चाहता है बाल आयोग, स्कूलों को ऐतराज़
बाल आयोग अब ऐसे स्कूलों में राज्य के बच्चों के लिए रिज़र्वेशन सिस्टम लागू करने की सिफारिश कर रहा है, ताकि पैसों की चमक के आगे शिक्षा का मूल उद्देश्य फीका न पड़े.

अब भी आरटीई के तहत 25 प्रतिशत, एससी-एसटी बच्चों और ओबीसी को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया जाता है.

  • Share this:
देहरादून. चैरिटी के नाम पर धंधा करने वाले स्कूलों पर अब जल्द एक्शन होने जा रहा है. उत्तराखण्ड के कुछ मशहूर स्कूलों में बड़े नेताओं, उद्योगपतियों और फ़िल्म स्टार्स तक पढ़कर निकले हैं. प्रदेश में 60 फ़ीसदी परसेन्ट स्कूल चैरिटी के नाम पर चल रहे हैं जो बाहरी राज्यों के बच्चों को एडमिशन देने के नाम पर मोटी फीस लेते हैं. लेकिन अगर बाल आयोग की चली तो अब ऐसे स्कूलों की मनमानी रुक सकती है.

रिज़र्वेशन की सिफ़ारिश 

बाल आयोग ने चैरिटी के नाम पर धंधा कर रहे ऐसे स्कूलों पर लगाम लगाने की तैयारी शुरु कर दी है. बाल आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी कहती हैं कि ऐसे स्कूलों में राज्य के बच्चों के लिए रिज़र्वेशन सिस्टम लागू करने की सिफारिश की जा रही है,  ताकि पैसों की चमक के आगे शिक्षा का मूल उद्देश्य फीका न पड़े.

हालांकि चैरिटी के नाम पर संचालित हो रहे स्कूल प्रंबधन दावा कर रहे हैं कि आरक्षण तो पहले से ही लागू है.

कितना आरक्षण? 

दून इंटरनेशनल स्कूल के वाइस प्रिंसिपल दिनेश बड़थ्वाल कहते हैं कि अब भी आरटीई के तहत 25 प्रतिशत, एससी-एसटी बच्चों और ओबीसी को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया जाता है. वह पूछते हैं कि आखिर कितना आरक्षण देना होगा.

अगर रिज़र्वेशन सिस्टम लागू होता है तो तय है कि स्कूलों की परेशानी तो बढ़ेगी, आर्थिक रूप से कमज़ोर पेरेन्ट्स भी अपने बच्चों का मनचाहे स्कूलों में एडमिशन करा पाएंगे.ये भी देखें:

अब शिक्षा विभाग में अनिवार्य सेवा निवृत्ति की तैयारी... 5000 से ज़्यादा शिक्षकों की होगी छुट्टी

VIDEO: निजी स्कूलों की मनमानी की हाईकोर्ट से शिकायत करेगा शिक्षा विभाग 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 10, 2020, 12:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर