Uttarakhand Election 2022 : कहां से लड़ेंगे CM तीरथ? अगले हफ्ते मुमकिन है बड़ा फैसला

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत.

चिंतन बैठक : राज्य में विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र रणनीति बनाने और कई पहलुओं पर विचार विमर्श के लिए भारतीय जनता पार्टी का थिंकटैंक अगले हफ्ते कवायद करेगा, जिसमें भाजपा संगठन के शीर्ष पदाधिकारी शामिल हो सकते हैं.

  • Share this:
    देहरादून/दिल्ली. उत्तराखंड की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल मार्च 2022 में पूरा होने जा रहा है इसलिए करीब 9 महीनों बाद होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर क्या रणनीति बनाई जाए? इस बारे में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी कुछ बड़े फैसले करने के लिए कवायद कर रही है. अगले हफ्ते से पार्टी की चिंतन बैठक शुरू होगी, जिसमें आगामी चुनावों के लिहाज़ से कई अहम बातें तय की जाएंगी. उदाहरण के तौर पर मौजूदा मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत किस सीट से चुनाव लड़ेंगे, यह भी इस बैठक में तय किए जा सकने की उम्मीद है. भाजपा के संगठन में प्रमुख भूमिकाएं निभाने वाले पदाधिकारियों की मौजूदगी में होने जा रही इस बैठक के बारे में कई खास बातें हैं, जिन पर नज़र रखी जाना चाहिए.

    सबसे पहले तो यह चिंतन बैठक तीन दिनों तक चलेगी, यानी 27 जून से 29 जून तक भाजपा का थिंकटैंक उत्तराखंड चुनावों को लेकर कई पहलुओं पर विचार करेगा. समाचार एजेंसी एएनआई की खबर में सूत्रों के हवाले से कहा गया कि इस चिंतन बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष भी मौजूद रहेंगे. इसके अलावा, उत्तराखंड में पार्टी प्रभारी दुष्यंत गौतम के साथ ही राज्य के शीर्ष नेताओं के भी इस बैठक में शामिल होने की बात कही जा रही है.

    ये भी पढ़ें : तो क्‍या उत्‍तराखंड को फिर मिलेगा नया मुख्‍यमंत्री? तीरथ सिंह रावत को छोड़नी होगी कुर्सी?

    uttarakhand elections, uttarakhand news, assembly elections 2022, uttarakhand bjp, उत्तराखंड चुनाव, उत्तराखंड न्यूज़, विधानसभा चुनाव 2022, उत्तराखंड बीजेपी
    भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष चिंतन बैठक में शामिल हो सकते हैं.


    क्या गंगोत्री सीट से चुनाव लड़ेंगे तीरथ सिंह रावत?
    इस बैठक में सबसे अहम फैसला यही हो सकता है कि उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत किस सीट से चुनाव लड़ेंगे. सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि गंगोत्री विधानसभा सीट से रावत को टिकट दिए जाने की संभावनाओं पर मुहर लग सकती है. रिपोर्ट में एक सूत्र के हवाले से कहा गया, 'चूंकि राज्य में अब तक कोई पार्टी लगातार दूसरी बार चुनाव नहीं जीती है, इस लिहाज़ से यह चुनाव महत्वपूर्ण है क्योंकि भाजपा इस बार यह ​इतिहास बदलकर दोबारा सत्ता में आने की कोशिश कर रही है.'

    और क्या होंगे विचार के मुद्दे?
    70 सीटों वाली विधानसभा के लिए होने वाले चुनावों के लिए रणनीति बनाने वाली इस चिंतन बैठक में विचार किन बातों पर होगा? सूत्रों के अनुसार कहा गया है कि राज्य में पार्टी की छवि को जो मुद्दे नुकसान पहुंचा सकते हैं, उन्हें लेकर गंभीरता और खुलकर इस बैठक में विचार होने की संभावना है. इसके अलावा, चुनाव तक हर महीने पार्टी और राज्य सरकार द्वारा किस तरह कौन से कार्यक्रम चलाए जाएंगे, इसे लेकर भी एक खाका तैयार किया जाएगा. गौरतलब है कि पिछले दिनों ही भाजपा ने ऐलान किया था कि राज्य में चुनाव मौजूदा सीएम तीरथ सिंह रावत के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.