पौ फटते ही हाहाकार....चमोली, टिहरी में 4 जानें ले गए बादल फटने से आए सैलाब, पौड़ी में नदी में बहा युवक

पौड़ी में एक युवक बदरीनाथ हाईवे पर ज़मीन धंसने की वजह से नदी में समा गया.

Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: August 13, 2019, 11:10 AM IST
पौ फटते ही हाहाकार....चमोली, टिहरी में 4 जानें ले गए बादल फटने से आए सैलाब, पौड़ी में नदी में बहा युवक
चमोली और टिहरी जिलों में बादल फटने की वजह से दो-दो मौत हुई हैं.
Manish Kumar
Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: August 13, 2019, 11:10 AM IST
उत्तराखण्ड में शुक्रवार की सुबह आसमान से आफ़त बरसी है. पौ फटते ही दो जिलों में हाहाकर मच गया. बादल घटने की दो घटनाओं में चार लोगों की मौत हो गई तो एक और आदमी ज़मीन धंसने की वजह से ज़िंदगी गंवा बैठा. चमोली और टिहरी जिलों में बादल फटने की वजह से दो-दो मौत हुई हैं तो पौड़ी में एक युवक बदरीनाथ हाईवे पर  ज़मीन धंसने की वजह से नदी में समा गया.

टिहरी हादसा 

पहली खबर टिहरी से आई. जिले के घनसाली तहसील के थार्टी गांव में देर रात से जारी भारी बारिश सुबह होते-होते तबाही लेकर आई. गांव के ऊपर बादल फटने से एक मकान उसकी जद में आ गया. तेज बारिश से बहकर आए मलबे में सुमन सिंह बुटोला का घर ध्वस्त हो गया. घर में बुटोला की पत्नी मकानी देवी अपने दो बच्चों के साथ सो रही थी. मलबे में तीनों दब गए.

गांव वाले जब तक जान पाते और सबको निकाल पाते तब तक मकानी देवी और उनके छह साल के बेटे सुरजीत की मौत हो चुकी थी. किसी तरह उनकी बेटी सपना को निकाला गया जिसकी सांस चल रही थी. उसे फौरन ही अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी स्थिति अब खतरे से बाहर बताई जा रही है.

टिहरी के आपदा कण्ट्रोल रूम के एक कर्मचारी ने बताया कि सुमन बुटोला वन विभाग में काम करते हैं जिनकी तैनाती टिहरी से बाहर है. उनकी पत्नी अपने दो बच्चों के साथ गांव में रहती थी. थार्टी गांव के ही नजदीक ठेला गांव में भी बादल फटने से गांव में मलबा घुस गया था लेकिन, गनीमत यह रही कि किसी की इसमें जान नहीं गई. दो बाइकें ज़रूर मलबे में दब गईं.

चमोली में दो जगह फटे बादल 

हाहाकार की दूसरी खबर चमोली से आई. यहां बादल फटने की दो घटनाएं बीती रात हुई हैं. थराली तहसील के हरीपुरा गांव में बादल फटने से आए मलबे में दो की दबकर मौत हो गई. इसमें एक महिला और एक बच्ची शामिल है. दोपहर तक हरीपुरा गांव में राहत कार्य चल ही रहा था.
Loading...

मलबे में दबकर मारे गए दोनों लोगों की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है. हरीपुरा इलाके में मोबाइल नेटवर्क के कमजोर होने के कारण जानकारी पूरी नहीं मिल पा रही है.


अलकनंदा में समाया युवक 

आपदा में पांचवीं मौत पौड़ी जिले से आई. यहां श्रीनगर श्रीकोट के पास एक व्यक्ति अलकनन्दा नदी में बह गया. वह बाइक समेत नदी में समा गया. जब तक कोई कुछ करने को सोचता तब तक नदी की धारा में वह दूर तक बह गया. सड़क किनारे व्यक्ति अपनी बाइक के सहारे खड़ा था तभी सड़क का पुश्ता ढहने से वह नीचे नदी में गिर गया.

टिहरी के घनसाली में फटने से मां और 6 साल के बेटे की मौत, बेटी को बचाया गया

PHOTOS: चमोली में बादल फटने से हुआ भारी नुकसान, 2 महिलाएं लापता 

EXCLUSIVE: बदरीनाथ हाईवे पर पैरों तले खिसक गई ज़मीन... युवक को बहा ले गई अलकनंदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चमोली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 2:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...