देवस्थानम बोर्ड पर हाइकोर्ट के फैसले से सरकार खुश, सीएम बोले 19 साल का सबसे बड़ा सुधारात्मक कदम
Dehradun News in Hindi

देवस्थानम बोर्ड पर हाइकोर्ट के फैसले से सरकार खुश, सीएम बोले 19 साल का सबसे बड़ा सुधारात्मक कदम
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोर्ट के फैसले को किसी की जीत-हार के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता सबके पास है लेकिन वह चाहेंगे कि दूसरा पक्ष बातों को समझे.

  • Share this:
देहरादून. देवस्थानम बोर्ड और एक्ट को सही बताने वाले हाईकोर्ट के फैसले से सरकार की बांछें खिल गई हैं.  फैसला आने के तुरंत बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि वह हाइकोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं. सीएम ने कहा कि कोर्ट के फैसले से सरकार की भावनाओं पर मुहर लगी है और इस बात की पुष्टि हुई है कि सरकार ने यह फैसला भविष्य की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए लिया है. सीएम ने कहा कि यात्रा कैसे सुरक्षित हो इस बात को ध्यान में रखा गया और किसी तरह की व्यवस्था से छेड़छाड़ सरकार का मकसद नहीं है. इसलिए कोर्ट के फैसले पर सबको विश्वास करना चाहिए.

हार-जीत के रूप में न देखें फ़ैसले को

चारधाम देवस्थानम बोर्ड की व्यवस्था को लेकर तीर्थ-पुरोहित और हक-हकूकधारियों के साथ कांग्रेस भी सड़कों पर उतरी थी. इस पर मुख्यंत्री ने कहा कि वे राजनीतिक विरोध पर कुछ नहीं कहना चाहते.



उन्होंने कहा कि चारधाम में श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ रही है इसलिए यह व्यवस्था की गई है. उन्होंने यह भी कहा कि कोर्ट के फैसले को किसी की जीत-हार के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए. एक सवाल के जवाब में सीएम ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता सबके पास है लेकिन वह चाहेंगे कि दूसरा पक्ष बातों को समझे.

पंडा-पुरोहितों का ख़्याल 

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने यात्रा की व्यवस्थाओं को करीब से देखा है इसीलिए बोर्ड बनाया गया है. पंडा-पुरोहितों से विरोध छोड़ने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार को उनकी चिंता है और उन्हीं को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया गया है.

सीएम ने कहा कि साल 2004 में तत्कालीन सीएम नारायण दत्त तिवारी भी यही व्यवस्था चाहते थे लेकिन संभव नहीं हो पाया. उन्होंने चारधाम विकास परिषद बनाई लेकिन राज्य के 19 साल पूरे होने पर मैंने इस फैसले के बारे में सोचा. यह मंत्रिमंडल का फैसला है और उत्तराखंड के 19 साल के इतिहास में सबसे बड़ा सुधारात्मक फैसला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading