लाइव टीवी

सीएम ने किया 6 नंबर पुलिया पर वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन, स्थानीय निवासी बोले- इससे जाम, दुर्घटनाएं बढ़ीं

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: October 17, 2019, 3:24 PM IST
सीएम ने किया 6 नंबर पुलिया पर वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन, स्थानीय निवासी बोले- इससे जाम, दुर्घटनाएं बढ़ीं
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को देहरादून में मसूरी बाइपास पर बने वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन किया.

स्थानीय निवासी डीएस रावत (Loacal Resident DS Rawat) ने यह भी कहा कि सड़क को घेरकर चौड़ाई इतनी कम कर दी गई है कि रोज़ जाम (Road Jam) लगता है और सड़क क्रॉस करना तक मुश्किल हो गया है.

  • Share this:
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को देहरादून में मसूरी बाइपास पर बने वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन किया. देहरादून नगर निगम का यह पहला वेंडिंग ज़ोन है हालांकि इसकी ज़मीन को लेकर विवाद अब भी चल रहा है और यहां कार्ट या ठेलियों के आवंटन की प्रक्रिया भी सवालों के घेरे में है. इस सबके बीच मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में 500 से ज़्यादा वेंडिंग ज़ोन बनाए जाएंगे जिनमें महिलाओं और स्वयं सहायता समूहों को प्राथमिकता दी जाएगी. उधर वेडिंग ज़ोन के उद्घाटन के समय स्थानीय निवासियों ने इसका विरोध किया और कहा कि इसकी वजह से जाम लगना बढ़ गया है और दुर्घटनाएं हो रही हैं.

जाम नहीं लगेगा:CM 

देहरादून में धर्मपुर से रायपुर जाने वाली प्रमुख नगर मार्ग पर सालों से लग रही अवैध सब्ज़ी मंडी की जगह नगर निगम ने एक वेंडिंग ज़ोन बनाया है. यहां 85 लोगों को ठेलियां दी गई हैं जिसके लिए उनके 30000 रुपये एडवांस लिया गया है और 10,8000 रुपये कीमत की इन ठेलियों की बाकी राशि निगम किस्तों में लेगा.



मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को इस वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन करते हुए कहा कि नगर निगम ने बहुत अच्छा काम किया है. व्यवस्थित वेंडिंग ज़ोन से बनने से शहर में जाम की स्थिति सुधरेगी और गरीब ठेली वालों को फ़ायदा होगा. हालांकि वेंडिंग ज़ोन के लिए सड़क और फ़ुटपाथ की ज़मीन को अलग कर दिए जाने से सड़क की चौड़ाई कम हो गई है.

dehradun, 6 number pulia, vending zone, 6 नंबर पुलिया पर बने वेंडिंग ज़ोन के लिए सड़क का डिवीजन कर दिए जाने से इस प्रमुख नगर मार्ग पर अतिक्रमण बहुत बढ़ गया है.
6 नंबर पुलिया पर बने वेंडिंग ज़ोन के लिए सड़क का डिवीजन कर दिए जाने से इस प्रमुख नगर मार्ग पर अतिक्रमण बहुत बढ़ गया है.


जाम बढ़ा, दुर्घटनाएं भी 
Loading...

ज़मीन पर स्थिति मुख्यमंत्री के दावों के उलट नज़र आ रही है. इसी वेंडिंग ज़ोन के नज़दीक रहने वाले डीएस रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री को इस वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन करने से पहले सोचना चाहिए था. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पलायन खत्म करने के दावे करने वाली सरकार ने सारी ठेलियां बाहरी लोगों को दे दी हैं.

रावत ने यह भी कहा कि सड़क को घेरकर चौड़ाई इतनी कम कर दी गई है कि रोज़ जाम लगता है और सड़क क्रॉस करना तक मुश्किल हो गया है और कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं.

6 number pulia vending zone, डीएस रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री को इस वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन करने से पहले सोचना चाहिए था.
डीएस रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री को इस वेंडिंग ज़ोन का उद्घाटन करने से पहले सोचना चाहिए था.


सिंचाई विभाग का नोटिस 

यह भी बता दें कि यह ज़मीन सिंचाई विभाग की है और नगर-निगम ने बना विभाग की अनुमति के यहां वेंडिंग ज़ोन बना दिया है. सिंचाई विभाग ने इसे अतिक्रमण बताते हुए नगर-निगम को नोटिस भी जारी किया है लेकिन राज्य में जारी पंचायत चुनाव प्रक्रिया के चलते अभी यह मामला रुका हुआ है.

इस बारे में पत्रकारों के सवाल पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों सरकार के विभाग हैं यह मामला सुलझा लिया जाएगा.

6 number pulia vending zone, मेयर सुनील उनियाल गामा ने बताया था कि यहां दुकानदारों के बीच मुनादी करवाकर आवेदन मांगे गए थे.
मेयर सुनील उनियाल गामा ने बताया था कि यहां दुकानदारों के बीच मुनादी करवाकर आवेदन मांगे गए थे.


आवंटन प्रक्रिया पर सवाल 

इस वेंडिंग ज़ोन में ठेलियों के आवंटन की प्रक्रिया भी सवालों के घेरे में है. मेयर सुनील उनियाल गामा ने बताया था कि यहां दुकानदारों के बीच मुनादी करवाकर आवेदन मांगे गए थे.

पत्रकारों ने मुख्यमंत्री से इसे लेकर भी सवाल पूछा कि ठेलियों के आवंटन के लिए क्या टेंडर, नोटिस निकाले गए थे? इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका जवाब नगर निगम ही दे सकता है?

ये भी देखें:

देहरादून में ऋषिकेश रिपीट करने की तैयारी… विभाग करे अतिक्रमण, कीमत चुकाएं लोग 

देहरादून नगर निगम के लिए OUTSIDER हैं उत्तराखंड के मूल निवासी 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 12:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...