होम /न्यूज /उत्तराखंड /

UK Politics: कांग्रेस में डैमेज कंट्रोल की कवायद, इधर BJP के दून मंथन से पहले CM धामी दिल्ली रवाना

UK Politics: कांग्रेस में डैमेज कंट्रोल की कवायद, इधर BJP के दून मंथन से पहले CM धामी दिल्ली रवाना

उत्तराखंड की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार दिल्ली गईं ऋतु खंडूड़ी ने प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से शिष्टाचार भेंट की. वहीं सीएम पुष्कर धामी सियासी कारणों से दिल्ली के दौरे पर गए. इधर, देहरादून में भाजपा और कांग्रेस के भीतर हलचल बढ़ी है.

अधिक पढ़ें ...

भारती सकलानी/सुनील नवप्रभात
देहरादून. उत्तराखंड में 16 अप्रैल को सियासी हलचलें अचानक तेज़ हो गईं. कांग्रेस ने हाल में प्रदेश में जो अहम पदों पर नियुक्तियां कीं, उनके चलते बढ़े असंतोष को थामने के लिए नेता विपक्ष और प्रदेश अध्यक्ष ने मुलाकात कर काफी देर विचार विमर्श किया. वहीं, भाजपा मंथन के तौर पर एक अहम बैठक देहरादून में करने जा रही है, लेकिन इस बारे में कोई भी नेता आधिकारिक पुष्टि नहीं कर रहा है. इस बीच, मुख्यमंत्री पुष्कर धामी शनिवार सुबह करीब 11 बजे दिल्ली के लिए रवाना हो चुके हैं.

पहले बात करें कांग्रेस की, तो पार्टी के भीतर डैमेज कंट्रोल की कोशिश तेज़ हो गई है. कांग्रेस में गुटबाज़ी के बीच आज प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा और नेता विपक्ष यशपाल आर्य ने मुलाकात की. तकरीबन 2 घंटे की मुलाकात के बाद दोनों ने नाराज़ विधायकों को मना लेने की बात कही. आर्य ने कहा ‘किसी को कोई दिक्कत है, तो वो बात से ही सुलझेगी. संवादहीनता नहीं होनी चाहिए. अगर कोई नाराज़ है, तो उसे मना लिया जाएगा.’ इधर नाराज विधायकों के हाईकमान तक पहुंचने की खबर भी है.

माहरा कल लेंगे पदभार और असंतुष्ट क्या करेंगे?
कांग्रेस ने नये प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर करण माहरा को नियुक्त किया है, जो रविवार को देहरादून में विधिवत पदभार संभालने की तैयारी कर रहे हैं. इधर, खबर है कि पार्टी के असंतुष्ट विधायक हाईकमान के सामने अपनी नाराज़गी जता सकते हैं. बताया जा रहा है कि रविवार को प्रदेश कांग्रेस में कुछ अहम बैठकें भी हो सकती हैं.

क्या मंथन करने वाली है बीजेपी?
खटीमा से चुनाव हारे पुष्कर धामी दिल्ली रवाना हो चुके हैं और उपचुनाव के लिए उनकी सीट तय करना हो, राज्य में महिला मोर्चा की प्रमुख की बात हो या प्रदेश भाजपा अध्यक्ष की नियुक्ति, इस बारे में बातें धामी दिल्ली में शीर्ष नेताओं के साथ कर सकते हैं. दूसरी ओर भाजपा के प्रदेश प्रभारी शनिवार दोपहर जो बैठक देहरादून में लेने वाले हैं, इसमें उन 27 सीटों के बारे में बातचीत हो सकती है, जहां इस बार भाजपा जीत नहीं सकी.

दुष्यंत गौतम के इस दौरे को तीन कारणों से महत्वपूर्ण माना जा रहा है:

1. विधानसभा चुनाव में बीजेपी जिन 23 सीटों पर हारी, उनकी समीक्षा रिपोर्ट प्रदेश प्रभारी के सामने रखी जा सकती है. माना जा रहा है कि कई सीटों पर भितरघात हुआ. कार्यकर्ता लगातार ऐसे लोगों के खिलाफ कारवाई की मांग कर रहे हैं.

2. सीएम पुष्कर सिंह धामी को उपचुनाव में जाना है. इसकी रणनीति को लेकर भी विचार विमर्श हो सकता है.

3. पार्टी में प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने की चर्चाएं तेज़ हैं. इस साल के अंत में सांगठनिक चुनाव भी होने हैं. इस सूरत में क्या प्रदेश अध्यक्ष समय से पहले बदला जाए या चुनाव तक वेट किया जाए? इस पर भी चर्चा हो सकती है. यदि कौशिक हटाए जाते हैं, तो उनको कद के अनुरूप क्या दायित्व दिया जाए, इस पर भी चर्चा होने की उम्मीद है.

Tags: Pushkar Singh Dhami, Uttarakhand politics, Yashpal Arya

अगली ख़बर