Home /News /uttarakhand /

धामी का टारगेट-70 : सभी सीटों पर BJP के गुण गाएंगे CM, कांग्रेस ने कहा चुनाव में आई याद

धामी का टारगेट-70 : सभी सीटों पर BJP के गुण गाएंगे CM, कांग्रेस ने कहा चुनाव में आई याद

जनसंपर्क के दौरान पुष्कर सिंह धामी. (Image: PS Dhami Twitter)

जनसंपर्क के दौरान पुष्कर सिंह धामी. (Image: PS Dhami Twitter)

Politics of Uttarakhand : उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से पहले सत्तारूढ़ भाजपा अब तक दो नारे लक्ष्य के तौर पर दे चुकी है. पहला है 'अबकी बार 60 पार' और दूसरा है 'युवा प्रदेश युवा मुख्यमंत्री'. पिछले चुनाव में 57 सीटें जीतकर सरकार बनाने में सफल रही भाजपा इस बार युवा मुख्यमंत्री (Young CM) चेहरे के दम पर चुनाव मैदान में उतरी है. पुष्कर सिंह धामी पार्टी की रणनीति के तहत चुनाव से पहले एक-एक सीट पर खुद जा रहे हैं. यह जनसंपर्क (BJP Campaign) या प्रचार तो है ही, क्या यह बीजेपी के लिए माहौल को भांपने की भी कवायद है?

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. उत्तराखंड की सत्ता पर काबिज़ बीजेपी एक तरफ अपने राष्ट्रीय दिग्गज नेताओं के दौरे राज्य में करवाने की रणनीति बना रही है, तो दूसरी तरफ स्थानीय स्तर तक पहुंचने की भी. इसी नीति के तहत मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए पार्टी ने टारगेट 70 बनाया है. इस मुहिम के तहत खुद सीएम धामी राज्य की सभी 70 विधानसभा सीटों का दौरा कर लोगों से मिलेंगे और भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे. तय कार्यक्रम के अनुसार धामी इन सभी सीटों पर 15 दिसंबर तक जनसंपर्क कर लेंगे और अब तक इनमें से 30 विधानसभाओं में वह जा भी चुके हैं. दूसरी तरफ, कांग्रेस ने इसे भाजपा का चुनावी ड्रामा करार दिया है.

    इस साल 4 जुलाई को कुर्सी संभालने वाले धामी को पार्टी ने युवा नेतृत्व का चेहरा बनाकर चुनाव में पेश कर दिया है, लेकिन उससे पहले उनके सामने चुनौती यह है कि वो सभी सीटों पर किए गए विकास का ब्योरा दे सकें. बीजेपी विधायक खजान दास ने न्यूज़18 को बताया कि इस टारगेट को सामने रखकर पुष्कर​ सिंह धामी अगले करीब 25 दिनों के भीतर 40 और विधानसभाओं का दौरा करेंगे. दास का कहना है कि धामी के कारण राज्य के युवा बीजेपी के प्रति आकर्षित हो रहे हैं. लेकिन कांग्रेस ने धामी की रणनीति को भाजपा का भूल सुधार कार्यक्रम बताकर इसे महज़ चुनावी दौरा ही करार दिया.

    उत्तराखंड को पहले समझते तो बेहतर होता : रावत
    कांग्रेस के चुनाव अभियान प्रमुख हरीश रावत ने धामी की रणनीति को चुनाव के समय लोगों की याद आना बताकर कहा कि भाजपा ने इस कार्यकाल में तीन मुख्यमंत्री दिए और धामी को तब लाया गया जबकि चुनाव सर पर आ गए. ‘उनसे पहले के मुख्यमंत्रियों ने उत्तराखंड को समझने के लिए कभी कोई दौरा नहीं किया. पहले किया होता तो सरकार को पता होता कि कहां क्या समस्या रही, जिसे सुलझाना चाहिए था.’

    रावत ने आगे कहा कि पिछले मुख्यमंत्रियों की नाकामी को एक तरह से भाजपा ने स्वीकार कर लिया है और भूल को सुधारते हुए धामी के ये दौरे प्लान किए गए हैं. ‘देर से ही सही अगर भाजपा सरकार को अपनी भूल का एहसास हुआ है और वह गलती सुधार रही है तो अच्छा है, लेकिन चुनाव के समय में ऐसे कार्यक्रमों का मंतव्य जनता ठीक से समझती है.’

    Tags: Pushkar Singh Dhami, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand BJP, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर