अपना शहर चुनें

States

CM त्रिवेंद्र सिंह रावत के दिल्‍ली दौरे से बदलेगी उत्तराखंड की 'किस्‍मत', कई योजनाएं ओके करवाईं

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से  मुलाकात कर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भारत नेट 2.0 स्कीम के लिए मंजूरी ली..
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से मुलाकात कर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भारत नेट 2.0 स्कीम के लिए मंजूरी ली..

केंद्रीय मंत्री से मुलाकात में भारत नेट 2.0 स्कीम पर मंजूरी मिली. जिसका फायदा उत्तराखंड के 12 हजार गावों को मिलेगा और राज्य के 12 हजार गांव जल्द इंटरनेट सेवा से जुड़ेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 9:55 PM IST
  • Share this:
देहरादून. दिल्ली (Delhi) में मुख्यंमत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (CM Trivendra Singh Rawat) ने पहले दिन 2 केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात की. सीएम ने पहले केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) से मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच उत्तराखंड में इंटरनेट कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने पर बात हुई. यही नहीं, केंद्रीय मंत्री से मुलाकात में भारत नेट 2.0 स्कीम पर मंजूरी मिली. जिसका फायदा उत्तराखंड के 12 हजार गावों को मिलेगा और राज्य के 12 हजार गांव जल्द इंटरनेट सेवा से जुड़ेंगे. वहीं बॉर्डर एरिया में कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए काम किया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और केन्द्र सरकार के महत्त्वपूर्ण सहयोग से उत्तराखंड में बड़े पैमाने पर विकास कार्य हो रहे हैं. उत्तराखंड की कठिन भौगोलिक, महत्त्वपूर्ण सामरिक स्थिति और आपदा के प्रति संवेदनशीलता का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतनेट परियोजना की स्टेट-लेड मॉडल में टाइमिंग के साथ काम जरूरी है.

वहीं मुख्यमंत्री ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री और शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं की मुलाकात में राज्य की योजनाओं पर चर्चा हुई. मुख्यमंत्री के आग्रह पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उड़ान योजना में देहरादून-पिथौरागढ़-हिण्डन मार्ग और सहस्त्रधारा-चिन्यालीसौड़-गौचर मार्ग पर हवाई सेवाएं नियमित करने के लिए दुबारा टेंडर किए जाएंगे. जलजीवन मिशन में उत्तराखंड के सभी बड़े और छोटे शहरों को शामिल किए जाने की भी केंद्रीय मंत्री ने स्वीकृति दी. वहीं मुख्यमंत्री के आग्रह पर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि पंतनगर ग्रीन फील्ड हवाई अड्डे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाए जाने के लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण से विशेषज्ञ की सेवाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी. वहीं पिथौरागढ़ के नैनीसैनी हवाई पट्टी को भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को हैंडओवर करने से पहले सर्वे किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज