Home /News /uttarakhand /

cng price rise in uttarakhand after petrol lpg transport etc now electricity rates may hike too

महंगाई डायन! पेट्रोल के बाद CNG के दाम चढ़े... रसोई गैस, ट्रांसपोर्ट, बिजली हर तरफ लग रहे झटके

उत्तराखंड में लगातार बढ़ रही महंगाई से लोग परेशान हैं.

उत्तराखंड में लगातार बढ़ रही महंगाई से लोग परेशान हैं.

Uttarakhand Inflation : अब महंगाई कब तक नियंत्रित होगी, कहना मुश्किल है लेकिन इतना ज़रूर है कि कोरोना के चलते वैसे ही आर्थिक संकट से जूझ रहे लोग दोतरफा नहीं, चौतरफा मार झेलने पर मजबूर हैं. देखिए रोज़मर्रा की कितनी चीज़ें किस कदर महंगी हो चुकी हैं या हो रही हैं.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड में महंगाई लोगों के जीवन को दिनोंदिन और चौतरफा ढंग से त्रस्त कर रही है. पेट्रोल की कीमतों को देखकर जिन्होंने सीएनजी का रुख किया, अब वो इसकी कीमतों से हैरान हैं. रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 1000 रुपये का आंकड़ा पहले ही पार कर चुकी है. ट्रांसपोर्ट महंगा तो है ही, अब बिजली की दरें भी उत्तराखंड को झटका देने के मूड में आ गई हैं. इस बीच एक बड़ी खबर यह भी है कि चंपावत उपचुनाव के सिलसिले में लगी आचार संहिता के कारण परिवहन विभाग ने बसों व अन्य वाहनों के किराये पर फिलहाल फैसला टाल दिया है.

देशभर में मंहगाई का असर इस कदर है कि उत्तराखंड में भी पेट्रोल के दाम सैकड़ा क्रॉस कर चुके हैं. सत्ता जहां इस पर जल्द काबू करने की बात कह रही है, वहीं अर्थशास्त्री सरकार को सब्सिडी देने की सलाह दे रहे हैं. जानकारों का मानना है कि यूक्रेन और रूस युद्ध का असर हर देश पर पड़ रहा है और मंहगाई इसी का नतीजा है. इधर, बीजेपी विधायक खजानदास का कहना है कि केन्द्र से लेकर राज्य, सभी इस मसले पर गंभीर हैं और जल्द स्थिति सामान्य होगी. हालांकि लोगों की तकलीफ दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है.

महंगाई डायन कैसे खाय जा रही है?
सीएनजी की बात करें, तो देहरादून में 4 फिलिंग स्टेशन हैं, जहां ज्यादातर सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक लाइन ही लगी रहती है. 3 घंटे बाद भी नम्बर आ जाये तो आपकी खुशकिस्मती. ट्रांसपोर्टेशन के काम से जुड़े लोगों का मानना है कि पेट्रोल के दाम बढ़े तो उन्हें लगा सीएनजी गाड़ियों को चलाया जाए. अब 1 किलो सीएनजी भी 93 रुपये की आ रही है. महंगाई डायन के सुरसा मुंह में पेट्रोल, खाद्य पदार्थ से लेकर हर ज़रूरी सामान की कीमतें समा रही हैं.

कहां नहीं है महंगाई का असर!
ऊर्जा निगम ने एक मसौदा तैयार कर लिया है और जल्द ही उत्तराखंड में बिजली की कीमतें बढ़ने जा रही हैं. खबरों के मुताबिक निगम का तर्क है कि 12 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली खरीदकर 4 रुपये में देने से निगम करोड़ों के घाटे में जा रहा है. अब उत्तराखंडियों की जेब पर यह भार डालने की तैयारी हो रही है. इधर, ट्रांसपोर्ट से जुड़ी एक और बड़ी खबर है.

परिवहन विभाग ने रोडवेज बस से लेकर कमर्शियल गाड़ियों का किराये पर फिलहाल फैसला टाल दिया है. चम्पावत उपचुनाव के चलते आचार संहिता के खत्म होने के बाद ही इस पर कोई कदम उठाया जाएगा. दरअसल लम्बे समय से ट्रांसपोर्ट व्यवसायी चारधाम यात्रा के मद्देनज़र किराया तय करने की मांग कर रहे थे, जो नहीं किया गया. असर यह है कि टैक्सी, मैक्स संचालकों ने किराया अपनी मर्ज़ी से बढ़ाया. चारधाम रूट पर मनमाया किराया लिया जा रहा है.

Tags: Price Hike, Uttarakhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर