श्रीनगर, बाजपुर निकाय चुनावों में जीत से कांग्रेस को मिला बूस्ट, धन सिंह, यशपाल आर्य को झटका

श्रीनगर और बाजपुर में बीजेपी के दो मंत्रियों का जादू नहीं चला और जनता ने धन सिंह रावत और यशपाल आर्य को अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में नकार दिया.

News18 Uttarakhand
Updated: July 11, 2019, 11:43 AM IST
श्रीनगर, बाजपुर निकाय चुनावों में जीत से कांग्रेस को मिला बूस्ट, धन सिंह, यशपाल आर्य को झटका
बुधवार रात श्रीनगर नगर पालिका में जीत का जश्न मनाते कांग्रेस कार्यकर्ता.
News18 Uttarakhand
Updated: July 11, 2019, 11:43 AM IST
श्रीनगर और बाजपुर निकाय में कांग्रेस की जीत से पार्टी को बड़ा बूस्ट मिला है. कांग्रेस के बड़े नेताओं से लेकर कार्यकर्ता तक खुश हैं कि श्रीनगर और बाजपुर में बीजेपी के दो मंत्रियों का जादू नहीं चला और जनता ने धन सिंह रावत और यशपाल आर्य को अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में नकार दिया है. हालांकि इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने एक बार फिर ईवीएम पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

श्रीनगर में बीजेपी को झटका 

राज्यमंत्री और श्रीनगर विधायक धनसिंह रावत की प्रतिष्ठा से जुड़ी श्रीनगर नगर पालिका सीट पर कांग्रेस ने भाजपा को तगड़ी पटखनी दी. अध्यक्ष पद पर कांग्रेस की पूनम तिवारी ने 638 वोटों के अंतर से भाजपा की सरोजनी रावत को हराया. कांग्रेस प्रत्याशी को 4413 जबकि भाजपा प्रत्याशी को 3775 वोट मिले. कुल 6 प्रत्याशियों में से तीसरे नम्बर पर निर्दलीय प्रत्याशी आशा मैठाणी उपाध्याय और चौथे पर निर्दलीय तौर पर भाजपा की बागी प्रत्याशी पूर्णकला जैन रही.

बाजपुर में कांग्रेस की लगातार तीसरी जीत 

बाजपुर नगरपालिका अध्यक्ष पद पर लगातार तीसरी बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की है. कांग्रेस प्रत्याशी गुरजीत सिंह लगभग 3000 वोटों से भाजपा प्रत्याशी राजकुमार को हराकर जीत गए. नगर पालिका बाजपुर के कुल 13 सभासद पदों में से तीन पर भाजपा और तीन पर कांग्रेस प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की. नगरपालिका के कुल सात पदों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है. बता दें कि गुरजीत सिंह को कांग्रेस ने लगातार दूसरी बार बाजपुर नगरपालिका अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी बनाया था.

ईवीएम पर सवाल 

इस बीच दो निकायों में मिली जीत पर पूर्व सीएम हरीश रावत ने फिर ईवीएम पर सवाल खड़े कर दिए. हरीश रावत ने ट्वीट में लिखा कि जब भी मुहर का इस्तेमाल होगा तो जनता कांग्रेस के सिद्धांतों पर मुहर लगाएगी. मगर मशीन का क्या है, मशीन वाचाल हो जाती है. साफ है हरीश रावत का कहना है कि बैलेट से कांग्रेस की जीत पक्की है जबकि ईवीएम संदेह के घेरे में है.
Loading...

(श्रीनगर से सुधीर भट्ट, बाजपुर से पूरन रावत और देहरादून से दीपांकर भट्ट की रिपोर्ट)

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 11, 2019, 10:33 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...