• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • Uttarakhand Election: कांग्रेस का टारगेट 700 गांव, 1-2 अक्टूबर को दलित परिवारों में खाना खाएंगे नेता

Uttarakhand Election: कांग्रेस का टारगेट 700 गांव, 1-2 अक्टूबर को दलित परिवारों में खाना खाएंगे नेता

उत्तराखंड के कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह, गणेश गोदियाल व हरीश रावत. (File Photo)

उत्तराखंड के कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह, गणेश गोदियाल व हरीश रावत. (File Photo)

Congress’s Dalit Politics: हाल में, हरीश रावत ने उत्तराखंड में भी दलित सीएम बनाए जाने संबंधी बयान दिया था, जिसके बाद से राज्य में दलित समुदाय राजनीति के केंद्र में दिख रहा है. भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल इस समुदाय को लेकर अपनी-अपनी रणनीति बना रहे हैं.

  • Share this:

देहरादून. इस बार गांधी जयंती के मौके को आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति से जोड़कर कांग्रेस खास बनाना चाहती है, इसलिए कांग्रेस नेता 2 रात गांवों में रुकेंगे, वहीं झंडा फहराएंगे और वहीं दलित परिवारों के साथ खाना खाएंगे. 700 गांवों में होने वाले इस प्रोग्राम को दलित सियासत को साधने के तौर पर देखा जा रहा है. चुनाव से ठीक पहले उत्तराखंड का दलित समाज चर्चाओं में आ गया है. इसका बड़ा कारण माना जा रहा है कि इस समुदाय के पास राज्य के कुल वोटों में से 19 फीसदी वोट दलित समाज के हैं.

एक तरफ भाजपा की पूरी कोशिश है कि दलित समुदाय के नेताओं का साथ उससे न छूटे. वहीं इस बार 2 अक्टूबर के मौके पर 2 दिनों तक कांग्रेस नेता दलित समुदाय को साधने के लिए खास रणनीति बना रहे हैं. कांग्रेस नेता गांवों में रात भर रुककर ग्रामीणों के साथ चर्चा, मीटिंग और दलित परिवारों के साथ सहभोज करेंगे. कांग्रेस का ये प्रोग्राम उत्तराखंड की 700 न्याय पंचायतों में होगा.

किन नेताओं के जिम्मे कौन सा अंचल

ग्राम का संदेश पूरे प्रदेश में जाए, इसलिए 13 ज़िलों में बड़े नेताओं के नेतृत्व में कांग्रेस ने प्रवास का प्रोग्राम बनाया है, जो इस तरह है.
देवेंद्र यादव – बागेश्वर
मनीष खंडूरी – चमोली
राजेश धर्माणी – उत्तरकाशी
दीपिका पांडे – हरिद्वार
गणेश गोदियाल – पौड़ी
हरीश रावत – कोटद्वार
प्रीतम सिंह – देहरादून
किशोर उपाध्याय – टिहरी
तिलक राज बेहड़ – यू एस नगर
रणजीत रावत – रुद्रप्रयाग
जीतराम – पिथौरागढ़
भुवन कापड़ी – नैनीताल
प्रदीप टम्टा – चम्पावत
गोविंद सिंह कुंजवाल – अल्मोड़ा

ये भी पढ़ें : निशंक मैनिफेस्टो देखेंगे तो कौशिक व टम्टा चुनाव मैनेजमेंट, BJP ने बड़े नेताओं को सौंपे काम

Uttarakhand news, Uttarakhand election 2022, assembly election, election 2022, dalit population, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड चुनाव, विधानसभा चुनाव, दलित आबादी

हरीश रावत के साथ चर्चा करते गणेश गोदियाल एवं देवेंद्र यादव. (File Photo)

सबकी एक ही रणनीति, बस दलितों का साथ न छूटे

उत्तराखंड कांग्रेस ने इस बार दो दिन में 700 गांवों को टारगेट किया है और दलितों को जोड़ने और साथ लेकर चलने के इस मिशन में पार्टी ने अपने एक एक नेता की ड्यूटी लगाई है. ऐसे में देखना होगा कि 2022 में कांग्रेस की ये रणनीति कितनी कारगर साबित होगी. वहीं, बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस ने दलितों के लिए कुछ नहीं किया. अब दलित झांसे में नहीं आएंगे. बीजेपी का दावा है कि उनके बड़े नेता अपने दौरों के दौरान अक्सर दलितों के घर भोजन करने जाते रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज