लाइव टीवी

हाथ मलती रह गई कांग्रेस... निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार ने सदन मे उठाया चार धाम श्राइन बोर्ड का मुद्दा

Kishore Kumar Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: December 5, 2019, 5:48 PM IST
हाथ मलती रह गई कांग्रेस... निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार ने सदन मे उठाया चार धाम श्राइन बोर्ड का मुद्दा
निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार ने कांग्रेस के हाथ से चार धाम श्राइन बोर्ड का मुद्दा छीन लिया और नेता प्रतिपक्ष के विरोध के बावजूद इस विधेयक पर आज ही चर्चा भी हो गई.

मदन कौशिक (madan kaushik) ने कहा कि चार धाम श्राइन बोर्ड (char dfham shrine board) में तीर्थ पुरोहितों के हक हकूकों का पूरा ध्यान रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि विधेयक को सदन में रखने पर विस्तार से चर्चा की जाएगी.

  • Share this:
देहरादून. तकालीन सत्र के दूसरे दिन हंगामे के बीच कई विधेयक (Bill) भी पास कर दिए गए. आज की हाइलाइट यह रही कि निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार (Independent MLA Pritam Singh Panwar) ने कांग्रेस के हाथ से चार धाम श्राइन बोर्ड (char dham shrine board) का मुद्दा छीन लिया और नेता प्रतिपक्ष के विरोध के बावजूद इस विधेयक पर आज ही चर्चा भी हो गई. सदन को कल 11 बजे तक के लिए स्थगित करने से पहले उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand government) ने सदन नें 2533 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट (supplementary budget) भी पेश कर दिया, इस पर चर्चा शुक्रवार को होगी.

इंदिरा हृदयेश का ऐतराज़ 

कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने सदन में उत्तराखंड फल पौधशाला (विनियमन) विधयेक, 2019 पेश किया जिसे चर्चा के बाद पास कर दिया गया. इनके अलावा उत्तराखंड राज्य विधानमंडल (अनहर्ता निवारण)  विधयेक, 2019 भी सदन में पास हो गया. उत्तराखंड माल और सेवा कर (संशोधन) विधयेक, 2019 को भी सदन ने पारित कर दिया.

निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार कांग्रेस के 11 विधायकों पर भारी पड़े. उन्होंने चार धाम श्राइन बोर्ड मामला कांग्रेस से पहले ही मुद्दा सदन में उठा दिया. उनके यह मुद्दा उठाने पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि चार धाम श्राइन बोर्ड पर शुक्रवार को सदन में चर्चा होना चाहिए. उन्होंने कहा कि विपक्ष कल नियम 310 के तहत मुद्दा लेकर आए, तब सदन में चर्चा होनी चाहिए.

सरकार का जवाब 

नेता प्रतिपक्ष की राय पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि जब मामला सदन में उठ चुका है तो चर्चा भी  आज ही होनी चाहिए. चार धाम श्राइन बोर्ड का मामला सदन में उठने पर संसदीय कार्य मंत्री मदन कौशिक ने इस पर जवाब भी दे दिया.

कौशिक ने कहा कि चार धाम श्राइन बोर्ड में तीर्थ पुरोहितों के हक हकूकों का पूरा ध्यान रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि विधेयक को सदन में रखने पर विस्तार से चर्चा की जाएगी. प्रस्तावित कानून में तीर्थ पुरोहितों की राय और सदन के सदस्यों के सुझावों को भी शामिल किया जाएगा.सरकार के जवाब से असंतुष्ट निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार का सदन से वॉक ऑउट कर दिया.

विपक्ष का हंगामा 

ख़ास बात रह है कि सदन में पेश 2533 करोड़ रुपये के अनुपूरक बजट में श्राइन बोर्ड के लिए भी बजट का प्रावधान किया गया है.

इससे पहले रानीखेत में दो सड़कों की मांग को लेकर उपनेता प्रतिपक्ष करन माहरा के साथ कांग्रेस विधायकों ने हंगामा किया. माहरा ने रानीखेत में दो सड़कों मांग उठाई और संसदीय कार्यमंत्री के जवाब से संतुष्ट नहीं हुए और वेल में आ गए. उनके पीछे-पीछे कांग्रेस के अन्य विधायक भी वेल में आ गए और सरकार के विरोध में नारेबाज़ी की.

ये भी देखें: 

‘गन्ना किसानों की आवाज़ दबा रही है सरकार, चीनी मिलें बंद होने के लिए सरकार ज़िम्मेदार’ 

उत्तराखंड को दी गईं चैंपियन की गालियां भूल गई बीजेपी? घर वापसी पर हां नहीं, तो न भी नहीं 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 5:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर