पर्यावरणीय स्वीकृति के बिना हुआ विधानसभा भवन का निर्माण, एनजीटी करेगी सुनवाई

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: October 19, 2018, 4:15 PM IST
पर्यावरणीय स्वीकृति के बिना हुआ विधानसभा भवन का निर्माण, एनजीटी करेगी सुनवाई
एसएस नेगी, अध्यक्ष, राज्य स्तरीय पर्यावरण प्रभाव निर्धारण प्राधिकरण

राज्य स्तरीय पर्यावरण प्रभाव निर्धारण प्राधिकरण (सीआ) का कहना है कि वे एनजीटी के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. इसके बाद ही पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
बिना पर्यावरणीय स्वीकृति और बिना वन भूमि हस्तांतरण के ही गैरसैंण में विधानसभा भवन बनाने वाली कार्यदायी संस्था नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन (एनबीसीसी) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. मामले में 9 नवंबर को एनजीटी सुनवाई करेगी. जानकारों की माने तो एनजीटी इस मामले में एनवायरमेंटल ईकोलॉजिकल असेसमेंट कमेटी का गठन कर एनबीसीसी पर अर्थदंड भी लगा सकती है.

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के कार्यकाल में वर्ष 2013 में गैरसैंण के भराड़ीसैंण में विधानसभा भवन का शिलान्यास किया गया था. विधानसभा भवन के निर्माण का जिम्मा एनबीसीसी को सौंपा गया था. एनबीसीसी ने यहां विधान भवन तो बनाया, लेकिन तमाम कायदे कानूनों को ताक पर रखकर. नियमानुसार बीस हजार वर्ग मीटर से अधिक भूमि पर किसी भी निर्माण कार्य के लिए राज्य स्तरीय पर्यावरण प्रभाव निर्धारण प्राधिकरण (सीआ) से पर्यावरणीय स्वीकृति लेनी होती है. लेकिन एनबीसीसी ने कोई स्वीकृति नहीं ली.

यही नहीं भारत सरकार से वन भूमि हस्तांतरण कराए बिना ही 25 हजार 845 वर्ग मीटर वन भूमि में विधानसभा भवन बना दिया गया. मामला जब एनजीटी में पहुंचा तो एनबीसीसी के अधिकारियों को कायदे कानूनों की याद आई.

अप्रैल 2018 में जाकर एनबीसीसी ने राज्य में सीआ में आवेदन किया. लेकिन अब इस आवेदन का कोई मतलब नहीं था क्योंकि एक तो मामला एनजीटी में था और दूसरा पर्यावरणीय स्वीकृति निर्माण कार्य शुरू होने के छह माह के भीतर लेनी होती है. लेकिन इस मामले में न सिर्फ भवन बनकर तैयार हो चुका है बल्कि कई सत्र भी आयोजित हो चुके हैं. राज्य स्तरीय पर्यावरण प्रभाव निर्धारण प्राधिकरण (सीआ) का कहना है कि वे एनजीटी के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. इसके बाद ही पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी.

ये देखें - VIDEO: यहां पाक से रिफ्यूजी के तौर पर आकर बसे लोग वर्षों से कर रहे रामलीला

निकाय चुनाव: कार्यकर्ताओं के बल पर बीजेपी लहरायेगी परचम- अजय भट्ट

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2018, 4:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...