अपना शहर चुनें

States

उत्तराखंड में Corona संक्रमितों का आंकड़ा 1,840 के पार, अब तक 24 लोगों की हुई मौत

गौतमबुद्ध नगर में अन्य जिलों और राज्यों से आने वाले संदिग्ध मरीजों का भी ICMR के गाइडलाइन के अनुसार इलाज जारी रहेगा (प्रतीकात्मक तस्वीर)
गौतमबुद्ध नगर में अन्य जिलों और राज्यों से आने वाले संदिग्ध मरीजों का भी ICMR के गाइडलाइन के अनुसार इलाज जारी रहेगा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अल्मोड़ा तथा उत्तरकाशी में एक-एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं.नए मरीजों में से अधिकतर पिछले दिनों महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुंबई से आये थे.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) में सोमवार को कोरोना वायरस (Corona virus) के 26 और मामले सामने आए हैं. इससे प्रदेश में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,845 हो गई है. अब तक, राज्य में कोरोना वायरस के कारण 24 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में कहा गया है कि सोमवार को टिहरी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी और नैनीताल (Nainital) जिलों में तीन-तीन मामलों का पता चला. जबकि बागेश्वर, पिथौरागढ़ और हरिद्वार में दो-दो मामले सामने आए. वहीं, अल्मोड़ा तथा उत्तरकाशी में एक-एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं.नए मरीजों में से अधिकतर पिछले दिनों महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुंबई से आये थे. बुलेटिन के अनुसार 1,189 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं जबकि 12 लोग राज्य से बाहर चले गए हैं.

दरअसल, उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. इससे पहले बीते गुरूवार को उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 75 नए मामले सामने आए थे. नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1637 हो गई थी. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार नए मामलों में से सबसे अधिक 30 मामले टिहरी गढ़वाल जिले से थे, जबकि देहरादून से 16, हरिद्वार से 15, रूद्रप्रयाग से 6, उधमसिंह नगर से 4, चमोली से 3 और एक मामला पौड़ी जिले से सामने आया था.

4 स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना की चपेट में आ गये थे
तब स्वास्थ्य विभाग ने कहा था कि कोरोना संक्रमितों में से ज्यादातर मुंबई, गुरुग्राम, दिल्ली और गाजियाबाद जैसे शहरों से प्रदेश में लौटे हैं. वहीं, देहरादून के दून मेडिकल कॉलेज के 4 स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना की चपेट में आ गये थे. दून मेडिकल कॉलेज में पहले भी 8 कर्मचारियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी.
खुद मुख्यमंत्री ने भी अपना कोरोना टेस्ट कराया था


वहीं, 29 मई को सतपाल महाराज के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद राज्य में काफी उथल पुथल रही थी. स्वयं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत उनके तीन अन्य कैबिनेट सहयोगी मंत्री हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल और मदन कौशिक को तीन दिन होम क्वारेंटिन में रहना पड़ा था. इधर सचिवालय कर्मियों ने भी कोरोना संक्रमण का खतरा बताते हुए तीन दिन खुद को होम क्वारेंटिन किया था. इस दौरान खुद मुख्यमंत्री ने भी अपना कोरोना टेस्ट कराया था.उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी.

(इनपुट- भाषा)

ये भी पढ़ें- 

तलाकशुदा महिला को शादी का झांसा देकर चार साल तक रेप करता रहा हेडकांस्टेबल

Weather Update: हरियाणा में 48 घंटे रहेंगे भारी, आंधी और वज्रपात की चेतावनी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज