लाइव टीवी

उत्तराखंडः COVID-19 से बचाव का नायाब तरीका, मंडियों तक जाने के लिए बनाईं सैनेटाइज सुरंगें
Dehradun News in Hindi

News18Hindi
Updated: April 10, 2020, 8:21 PM IST
उत्तराखंडः COVID-19 से बचाव का नायाब तरीका, मंडियों तक जाने के लिए बनाईं सैनेटाइज सुरंगें
(फाइल फोटो)

उत्तराखंड (Uttarakhand) कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड के अध्यक्ष और राज्यमंत्री गजराज बिष्ट का दावा है कि कोरोना (COVID-19) संकट के बीच किसान सरकार के फोकस में हैं. हमारी कोशिश उन्हें कोरोना मुक्त रखने की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2020, 8:21 PM IST
  • Share this:
हल्द्वानी. उत्तराखंड (Uttarakhand) में कोरोना (COVID-19) को मंडियों को दूर रखने के लिए सैनेटाइजेशन का विशेष ध्यान रखा जा रहा है. मंडियों में ऐसी सुरंगें (Tunnels) बना दी गई हैं, जिनके जरिए यहां आने-जाने वालों को गुजरना होगा. चाहे किसान हो या फिर व्यापारी सभी ऐसी सैनेटाइजिंग टनलों से गुजरेंगे. इन टनलों में सैनेटाइजर की हल्की फुहारें आपके शरीर और कपड़ों पर पड़ेंगी. जिससे आपका शरीर और कपड़े पूरी तरह से सैनेटाइज हो जाएंगे. सैनेटाइजेशन की इन फुहारों से कपड़ों और शरीर पर चिपका कोरोना वायरस खत्म हो जाएगा और कोरोना के फैलने का सिलसिला भी रुकेगा.

किसानों को रखना है कोरोना से दूर
उत्तराखंड कृषि उत्पादन विपणन बोर्ड के अध्यक्ष और राज्यमंत्री गजराज बिष्ट का दावा है कि कोरोना के इस मुश्किल दौर में किसान सरकार के फोकस में हैं. प्लेन हो या पहाड़, हर मंडी में रोजाना हजारों किसान पहुंचते हैं. इसलिए हमारी कोशिश उन्हें कोरोना मुक्त रखने की है. गजराज के मुताबिक किसान अगर इंट्री और बाहर जाते समय सैनेटाइज हो जाएं तो मंडी के भीतर और किसान के घर में कोरोना संक्रमण का खतरा लगभग न के बराबर हो जाएगा. गजराज के मुताबिक शुरुआती तौर पर हल्द्वानी, रुद्रपुर, काशीपुर, हरिद्वार, देहरादून, विकासनगर, ऋषिकेश, रुड़की, जसपुर, बाजपुर, रुद्रपुर, खटीमा और टनकपुर ​में सैनेटाइजिंग टनल लगाई जा रही हैं.

हल्द्वानी में शुरू हो चुका है सैनेटाइजिंग सुरंग का प्रयोग



हल्द्वानी मंडी समिति ने अपने इंट्री गेट्स पर तीन सैनेटाइजिंग टनल लगा रखी हैं. यहां मंडी समिति के अध्यक्ष मनोज साह बताते हैं कि टनल के जरिए पैदल के साथ ही मंडी में आने वाले टू-व्हीलर्स को भी गुजारा जा रहा है. साह के मुताबिक ये सोडियम हाइपोक्लोराइड के घोल का घोल है, जिससे शरीर को किसी तरह का नुकसान नहीं है. साह के मुताबिक क्योंकि हल्द्वानी फल, सब्जी और राशन की सप्लाई के लिए कुमाऊं की सबसे बड़ी मंडी है लिहाजा यहां तीन-तीन टनल लगाई गई हैं. ताकि टनल से गुजरते हुए भीड़ न हो. हालांकि उन्होंने ये भी माना कि अभी लोगों को इससे गुजारने के लिए बताना पड़ रहा है. लेकिन यह धीरे-धीरे लोगों की आदत में शुमार हो जाएगा.



ये भी पढ़ें: टिहरी में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे मरीज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 10, 2020, 7:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading