Corona: CM ने फिर की सतर्कता बरतने की अपील... कांग्रेस ने कहा पूरी तरह फ़ेल हो गई त्रिवेंद्र सरकार
Dehradun News in Hindi

Corona: CM ने फिर की सतर्कता बरतने की अपील... कांग्रेस ने कहा पूरी तरह फ़ेल हो गई त्रिवेंद्र सरकार
कांग्रेस का कहना है कि त्रिवेंद्र सरकार ने कोरोना वायरस संकट का भी राजनीतिकरण किया.

सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि दून हॉस्पिटल समेत सभी अस्पतालों में ने गंभीर रूप से बीमार कोविड संक्रमित मरीज को भर्ती करने में असमर्थता जाहिर कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 7, 2020, 7:41 PM IST
  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है और देहरादून में स्थिति लगातार ख़राब होती जा रही है. देहरादून प्रदेश की अस्थाई राजधानी है और पिछले 20 साल से सरकार यहीं से चल रही है. ऐसे में इस पर राजनीति न हो ऐसा नहीं हो सकता. प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अब लगातार फ़ेसबुक पर सतर्कता बरतने की अपील कर रहे हैं तो कांग्रेस का कहना है कि कोरोना महामारी की रोकथाम में त्रिवेंद्र सरकार पूरी तरह फेल हो गई है और अब हालत इतनी ख़राब हो गई है कि कोरोना मरीज़ों को अस्पताल दाखिल ही नहीं कर रहे हैं.

सीएम की अपील

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक बार फिर अपने फ़ेसबुक अकाउंट से लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की है. सीएम के आधिकारिक फ़ेसबुक अकाउंट में साझा की गई पोस्ट में लिखा है,



"लिफ्ट, दफ्तर या फिर बाज़ार सावधानी बरतिए बार-बार. सतर्कता व सावधानी ही कोरोना से बचाव का मूलमंत्र है. आप सभी के सहयोग से ही हम इस वैश्विक महामारी को फैलने से रोक सकते हैं.
सतर्क रहें सावधान रहें"

इसके साथ इन हैशटैग्स का इस्तेमाल किया गया है... #IndiaFightsCorona, #WearMaskProperly, #KeepSocialDistancing, #SanitizeHands.

कोरोना मरीज़ों को लौटा रहे अस्पताल

इधर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि त्रिवेंद्र सरकार कोरोना संकट से निपटने में पूरी तरह विफल रही है. सरकार को कांग्रेस पहले दिन से राज्य सरकार से आपातकालीन स्थितियों के लिए तैयार रहने का आग्रह कर रही थी लेकिन त्रिवेंद्र सरकार ने कोरोना की लड़ाई को भी राजनैतिक लड़ाई बना डाला.

धस्माना ने कहा कि सोमवार को उन्होंने राजधानी के सभी कोविड-19 समर्पित सरकारी अस्पतालों, दोनों निजी मेडिकल कॉलेजों और कोरोना के मरीजों को भर्ती कर निजी अस्पताल का दौरा किया. स्थिति इतनी खराब है कि दून हॉस्पिटल समेत सभी अस्पतालों में आईसीयू व वेंटिलेटर फुल मिले और सभी ने गंभीर रूप से बीमार कोविड संक्रमित मरीज को भर्ती करने में असमर्थता जाहिर की.

स्वास्थ्य मंत्री भी हैं CM, क्यों नहीं लिया जायज़ा

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि आज संक्रमण मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की महत्वकांशी संख्या 25000 को पार कर रहा है और कहीं भी संक्रमण नियंत्रण में आता नज़र नहीं आ रहा. राज्य में रिकवरी रेट भी कम हो गया है और संक्रमित मरीजों की मौतों का आंकड़ा भी लोगों को चिंतित कर रहा है. धस्माना ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत जो स्वास्थ्य मंत्री  भी हैं, आज तक राज्य के व राजधानी के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में स्थितियों का   जायजा लेने तक नहीं गए.

धस्माना ने कहा कि इस कोरोना काल में पूरी सरकार व बीजेपी पार्टी ने जितनी गैर जिम्मेदारी का परिचय दिया उसी का परिणाम है कि आज सरकार के मंत्री व बीजेपी नेता व कार्यकर्ता दुर्भाग्य से कोरोना संक्रमित हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक बार फिर त्रिवेंद्र सरकार से मांग करती है कि राज्य में सामाजिक फैलाव होने की स्थिति में भी बड़ी संख्या में लोगों के संक्रमित होने पर भी स्वास्थ्य सेवा का ढांचा न चरमराए ऐसी आपातकालीन स्थिति की तैयारी करनी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज