इतनी महंगी बारिश... पुल और सड़क टूटने से ही अब तक 35 करोड़ का नुक़सान

लोक निर्माण विभाग के पांच पुल ध्वस्त हो चुके हैं तो एनएच के दो पुलों को नुक़सान पहुंचा है.

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: August 12, 2019, 3:26 PM IST
इतनी महंगी बारिश... पुल और सड़क टूटने से ही अब तक 35 करोड़ का नुक़सान
लोक निर्माण विभाग के पांच पुल ध्वस्त हो चुके हैं तो एनएच के दो पुलों को नुक़सान पहुंचा है.
Sunil Navprabhat
Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: August 12, 2019, 3:26 PM IST
उत्तराखंड में मॉनसून के सक्रिय होते ही बारिश की वजह से आने वाली मुसीबतों का सिलसिला शुरु हो जाता है. पिछले डेढ़ महीने में अकेले पुलों और सड़कों के मामले में उत्तराखंड को करीब पैंतीस करोड़ रुपये का नुक़सान पहुंच चुका है. लोक निर्माण विभाग के पांच पुल ध्वस्त हो चुके हैं तो एनएच के दो पुलों को नुक़सान पहुंचा है. विभाग  फौरी तौर पर ही इन मार्गों को खोलने में अभी तक दस करोड़ रुपये खर्च कर चुका है.

एक नज़र राज्य में अब तक हुए नुक़सान परः

  • सबसे अधिक नुक़सान चमोली, रुद्रप्रयाग और पौड़ी जिले में हुआ है. चमोली में दो पुलों के ध्वस्त होने के साथ ही करीब आठ करोड़ का नुक़सान हो चुका है.


  • नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में चार करोड़, तो उत्तरकाशी और टिहरी में पांच करोड़ का नुक़सान हो चुका है

  • बारिश और भू-स्खलन से इस डेढ़ महीने में पीएमजीएसवाई को नौ करोड़, एनएच को छह करोड़ तो तो लोक निर्माण विभाग को बीस करोड़ का नुक़सान पहुंच चुका है.

  • सबसे अधिक सिरदर्द रुद्रप्रयाग जिले में गौरीकुंड हाईवे बना हुआ है. यहां बांसवाड़ा लैंडस्लाइड पिछले एक महीने से लगातार सक्रिय है.

  • Loading...

  • पिथौरागढ़ में तवाघाट-नारायण आश्रम मोटर रोड सुनपाल के पास लैंडस्लाइड के कारण बार-बार बाधित हो रही है.

  • चमोली में घाट-रामणी मोटर मार्ग विभाग के लिए सिरदर्द बना हुआ है.

  • उत्तरकाशी में यमनोत्री हाईवे पर डबरकोट लैंडस्लाइड ज़ोन नासूर बन गया है.

  • चंपावत-पिथौरागढ़ एनएच9 में धौन के पास बने नए भूस्खलन ज़ोन इस साल लगातार सक्रिय रहा है.


ये भी पढ़ें:  

टनकपुर-पिथौरागढ़ ऑल वेदर रोड पर लगातार भूस्खलन, चंपावत में NH9 घण्टों से बंद

उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से भूस्खलन, नैनीताल में ढहा 5 मंजिला मकान

 
First published: August 12, 2019, 3:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...