• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • देहरादून: लॉकडाउन के बावजूद नहीं आ रहे लोग बाज, 1991 गिरफ्तार, 1963 वाहन जब्त

देहरादून: लॉकडाउन के बावजूद नहीं आ रहे लोग बाज, 1991 गिरफ्तार, 1963 वाहन जब्त

लॉकडाउन के बीच उत्तराखंड में  1991 गिरफ्तारियां (कॉन्सेप्ट इमेज)

लॉकडाउन के बीच उत्तराखंड में 1991 गिरफ्तारियां (कॉन्सेप्ट इमेज)

उत्तराखंड पुलिस (Uttarakhand Police) ने मोटर वाहन अधिनियम के तहत 1963 वाहनों को भी जब्त किया है.

  • Share this:
    देहरादून. विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस के कारण पूरे भारत में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है. इस स्थिति में कई ऐसे लोग हैं जो सरकार की बात ना मानकर इसका उल्लंघन कर रहे हैं. उत्तराखंड पुलिस ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में अब तक राज्य में 1991 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और 362 एफआईआर दर्ज की गई हैं. वहीं, मोटर वाहन अधिनियम के तहत 1963 वाहनों को भी जब्त किया जा चुका है.





    केंद्र और राज्य सरकार की ओर से सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) के लिये तमाम तरह के दिशा निर्देश जारी किये गये हैं. सभी प्रकार के वाहनों के संचालन पर प्रतिबंध लगाया गया है. इसके बावजूद कुछ लोग नियमों का उल्लंघन करने से बाज नहीं आ रहे हैं, जिस वजह से पुलिस प्रशासन को सख्ती दिखानी पड़ रही हैं.

    13 घंटे की छूट निरस्त
    वहीं, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को कहा कि लॉकडाउन के कारण रास्ते में ही फंस गए लोगों को 31 मार्च को राज्य के भीतर एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए दी गई छूट भी निरस्त कर दी गई है. दरअसल, इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री ने ऐलान किया था कि 31 मार्च को लॉकडाउन में 13 घंटे की छूट दी जाएगी.

    गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद बदला फैसला
    मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि इस व्यवस्था को गृह मंत्रालय द्वारा रविवार जारी निर्देशों के बाद निरस्त कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय के निर्देशों में एक जिले से दूसरे जिले में भी आवाजाही को रोके जाने को कहा गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें देश को कोरोना से मुक्त करने के लिए और सख्ती से लॉकडाउन को लागू करना है जिससे कुछ कष्ट हो सकता है परंतु यह हम सभी के हित में है.

    'असुविधा के लिये क्षमा चाहता हूं'
    रावत ने कहा, 'केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों के बाद उत्तराखंड में 31 मार्च को अंतरजनपदीय परिवहन सेवा खुली रहने का आदेश वापस लिया जाता है. आप लोग जहां हैं, वहीं पर सुरक्षित रहें. आपके लिए आवश्यक वस्तुओं की उचित व्यवस्था है. आपको हुई असुविधा के लिए क्षमा चाहता हूं.'

    ये भी पढ़ें: COVID-19: उत्तराखंड में बैकफुट पर आई त्रिवेंद्र सरकार, लॉकडाउन में छूट का ऐलान लिया वापस

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज