उत्तराखंड: प्रशासन ने बॉर्डर के गांवों में तत्काल एहतियात बरतने को दिए निर्देश, जानें क्या है वजह?
Dehradun News in Hindi

उत्तराखंड: प्रशासन ने बॉर्डर के गांवों में तत्काल एहतियात बरतने को दिए निर्देश, जानें क्या है वजह?
एसपी देहात स्वपन्न किशोर का कहना है फिलहाल सभी मरीजों के सम्पर्क में आये लोगों को ट्रेस किया जा रहा है.

हरिद्वार (Haridwar) जिले में मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है. आज 3 नए मामले सामने आने के बाद अब संक्रमितों की 17 हो गयी है.

  • Share this:
रुड़की. उत्तराखंड (Uttarakhand) में प्रवासियों के आने का सिलसिला लगातार जारी है. वहीं, देहात क्षेत्रों से जुड़े बॉर्डर (Border) के गांवों को खास एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही सभी बार्डरों पर लगातार प्रवासियों का मेडिकल परीक्षण भी किया जा रहा है. एसडीएम गोपाल सिंह चौहान (SDM Gopal Singh Chauhan) का कहना है कि जो भी प्रवासी देहात क्षेत्रों में आ रहे उनका लगातार मेडिकल परीक्षण किया जा रहा है. और जिसमें कोई सिम्टम्स नहीं मिल रहे हैं उन्हें होम क्वारेंटाइन किया जा रहा है.

साथ ही ग्राम प्रधानों को दिशा निर्देश दिए गए हैं कि गांव में कोई प्रवासियों चोरी- चुपके पहुंचता है तो उसकी सूचना तुरंत प्रशासन को दें. इसके अलावा होम क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. गौरतलब है उत्तराखंड में प्रवासियों के आने के बाद कोरोना मरीजों की संख्या में भी इजाफा हुआ है. वहीं, हरिद्वार जिले में मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है. आज 3 नए मामले सामने आने के बाद अब संक्रमितों की  17 हो गयी है, जिसमें से 10 एक्टिव केस हैं. एसपी देहात स्वपन्न किशोर का कहना है फिलहाल सभी मरीजों के सम्पर्क में आये लोगों को ट्रेस किया जा रहा है. साथ ही स्वास्थ्य विभाग भी लगातार क्षेत्रों में तैनात है और सेनेटाजर भी किया जा रहा है.

क्वारंटाइन सेंटर में सांप के काटने से बच्ची की मौत
उधर, उत्तराखंड के नैनीताल जिले में कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते मामले सामने आने के साथ यहां क्वारंटाइन सेंटरों की बदहाल तस्वीर एक बच्ची की जान पर भारी पड़ गई. जिले के बेतालघाट में 4 साल की बच्ची अंजना लॉकडाउन में छूट के बाद दिल्ली से पिता के साथ सही-सलामत लौट आई थी. लेकिन आज यहां क्वारंटाइन सेंटर में सांप के काटने से उसकी मौत हो गई. दिल्ली से लौटने के बाद मासूम बच्ची को गांव के स्कूल में क्वारंटाइन किया गया था. बच्ची को स्कूल में सांप काटने की खबर फैलते ही उसके इलाज के लिए तत्काल भाग-दौड़ की गई, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. मासूम की मौत से परिवार में कोहराम मचा है, वहीं COVID-19 को लेकर सरकार के उपायों और सिस्टम के दावों पर सवाल उठने लगे हैं.



ये भी पढ़ें- 



Corona side effects: जयपुर में सैलून कर्मचारी PPE किट पहनकर कर रहे हेयर कटिंग

Udaipur: कोरोना ने छीन ली दुनिया के खूबसूरत शहर 'Lake City' 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading