उत्तराखण्ड में 2300 से ज्यादा लोगों की बढ़ी मुश्किलें, आपदा प्रबंधन कानून के तहत मुकदमे दर्ज

उत्तराखंड में आपदा प्रबंधन कानून के तहत 2300 लोगों के खिलाफ केस दर्ज (फाइल फोटो)
उत्तराखंड में आपदा प्रबंधन कानून के तहत 2300 लोगों के खिलाफ केस दर्ज (फाइल फोटो)

वरिष्ठ वकील रजत दुआ बताते हैं कि स्टूडेन्ट्स को तो खासकर होम क्वारेन्टाइन (Quarantine) और ई-पास में गलत जानकारी देने पर पूरा करियर खत्म होने का डर है क्योंकि कैरेक्टर सर्टिफिकेट में डिसास्टर मैनेजमेन्ट एक्ट के तहत दर्ज मुकदमे से देश विदेश में नौकरी मिलना मुश्किल है.

  • Share this:
देहरादून. कोरोना काल में अगर आपने सबसे ज्यादा कोई शब्द सुना होगा तो वो होगा आपदा प्रंबधन कानून (Disaster Management Law). पुलिस से लेकर कानूनी जानकार तक इस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज होना करियर के लिए घातक बताते हैं. यानि होम क्वारेंटाइन (Home Quarantine) से लेकर ई- पास में अगर आप सही जानकारी नहीं भर रहे हैं तो आपकी मुश्किलें बढ़ना तय है. उत्तराखण्ड पुलिस ने सरकारी गाइडलाइन्स का उल्लघंन करने पर अभी तक प्रदेशभर में 2300 लोगों के खिलाफ से ज्यादा मुकदमे दर्ज किये हैं. डीजी कानून व्यव्यस्था अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस लॉकडाउन पीरियड में नियमों की अनदेखी करने वालों को बिलकुल नहीं छोड़ने वाली.

क्या है डिसास्टर मैनेजमेंट
डिसास्टर मैनेजमेन्ट एक्ट 2005 का 53 वां अधिनियम कड़े कानूनों में आता है सेक्शन 51 A,B में लगनी वाली धाराएं आपके करियर को चौपट कर सकती हैं. गलत जानकारी, सरकारी धन का दुरूपयोग, सोशल मीडिया पर सनसनी फैलाने, ड्यूटी के समय लापरवाही पर सजा और जुर्माने तक का प्रावधान है. एक्ट की धारा 60 को अपराध की क्षेणी में माना जाता है जिसमें आम आदमी को भी हक दिया गया है कि वो सरकारी कर्मचारी को 30 दिन का नोटिस देकर एफआईआर दर्ज करवा सकता है.

हो सकता है करियर खत्म
वरिष्ठ वकील रजत दुआ बताते हैं कि स्टूडेन्ट्स को तो खासकर होम क्वारेन्टाइन और ई-पास में गलत जानकारी देने पर पूरा करियर खत्म होने का डर है क्योंकि कैरेक्टर सर्टिफिकेट में डिसास्टर मैनेजमेन्ट एक्ट के तहत दर्ज मुकदमे से देश विदेश में नौकरी मिलना मुश्किल है. अब यह आपके हाथ में है कि कोराना काल में चल रहे सरकारी नियमों का आप पालन करें क्योंकि आपदा प्रबंधन कानून की पेचीदगियां आपकी मुश्किलें बढ़ा सकती हैं.



ये भी पढ़ें: खुशखबरी! उत्तराखंड के इस एकमात्र जिले में COVID-19 का एक भी मामला नहीं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज