Covid-19: कोरोना की सेकेंड वेब से उत्तराखंड पस्त, बढ़ाई गई पाबंदियां

कलक्टर ने कहा कि अभिभावकों को भ्रमित करवा कर प्रायोगिक परीक्षा करवाना गलत है. यह बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है.

कलक्टर ने कहा कि अभिभावकों को भ्रमित करवा कर प्रायोगिक परीक्षा करवाना गलत है. यह बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है.

राज्य में लौट रहे प्रवासियों के लिए अब रजिस्ट्रेशन (Registration) के साथ ही होम क्वारंटीन अनिवार्य कर दिया गया है. प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थान बंद रखने के आदेश दे दिए गए हैं,

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) में कोरोना संक्रमण (Corona infection) की रप्तार बढ़ती देख अब सरकार की भी चिंता बढ़ गई है. कोरोना की चेन तोड़ने को लेकर धीरे-धीरे पाबंदियां (Restrictions) बढ़ानी शुरू कर दी गई हैं. उत्तराखंड में पिछले 24 घंटों में दो हजार एक सौ से अधिक केस सामने आए हैं. एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 18 हजार के पार चली गई है. साढ़े तेरह हजार से अधिक लोग होम आईसोलेशन में हैं. तो पांच हजार से अधिक मरीज हॉस्पिटल में भर्ती हैं. हालात को देखते हुए सरकार ने कुछ पाबंदियां लगाई हैं.

Youtube Video


ये हैं पाबंदियां

- राज्य में लौट रहे प्रवासियों के लिए अब रजिस्ट्रेशन के साथ ही होम क्वारंटीन अनिवार्य कर दिया गया है.
- प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थान बंद रखने के आदेश दे दिए गए हैं, अभी तक दून, हरिद्वार , नैनीताल में ही शिक्षण संस्थान बंद किए गए थे.

- पूरे राज्य में रात नौ बजे  से लेकर सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू के साथ ही वीकेंड पर रविवार को  कर्फ्यू लगाया गया है. देहरादून में शनिवार को भी डे नाइट कप्र्यू रहेग.

- सभी विभागों में ट्रांसफर स्थगित कर दिए गए हैं.



- बिना मॉस्क घूमते पाए जाने पर जुर्माना दो सौ से बढ़ाकर पांच सौ रूपए कर दिया गया है.

-राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक आयोजनों में गैदरिंग सौ की संख्या तक सीमित कर दी गई है.

- राज्य में एलटी, नर्सिंग और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा स्थगित कर दी गई है, जबकि दसवीं की बोर्ड परीक्षा रदद कर दी गई है.

- स्पा, स्वीमिंग पुल बंद कर दिए गए हैं.

- बॉर्डर पर बिना कोविड नेगेटिव रिपोर्ट के एंट्री बैन कर दी गई है. यदि आपके पास नेगेटिव रिपोर्ट नहीं है तो बॉर्डर पर ही आपका रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज