Home /News /uttarakhand /

cricket association of uttarakhand issue police deploys sog in extortion case arrest possible

UK Cricket : क्रिकेटर को पीटने व 10 लाख मांगने का केस, गिरफ्तार हो सकते हैं एसोसिएशन के पदाधिकारी

उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन के आरोपी पदाधिकारियों पर अब जांच में सहयोग न करने का आरोप.

उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन के आरोपी पदाधिकारियों पर अब जांच में सहयोग न करने का आरोप.

क्रिकेट एसोसिएशन के जिन पदाधिकारियों पर गंभीर आरोप हैं, पुलिस को केस दर्ज होने के बाद उनकी लोकेशन नहीं मिल रही है. रिश्वत मांगने, मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने के आरोपियों पर अब बड़ी कार्रवाई किसी भी समय हो सकती है. देखिए पूरी रिपोर्ट.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड क्रिकेट जगत में मची खलबली के बीच बड़ी ख़बर यह है कि अब क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के सचिव समेत 7 पदाधिकारियों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है. एक युवा क्रिकेटर के सिलेक्शन के लिए 10 लाख रुपये की मांग और फिर उसके साथ मारपीट किए जाने के मामले में पुलिस विभाग ने एसओजी को काम सौंप दिया है. बताया जा रहा है कि एसोसिएशन के लोगों द्वारा जांच में सहयोग न करने पर पुलिस विभाग ने अब गिरफ्तारी की तरफ कवायद शुरू कर दी है.

क्रिकेटर आर्य सेठी के पिता रवींद्र सेठी द्वारा केस दर्ज कराए जाने के बाद अब इस मामले में एसएसपी जन्मजेय खंडूड़ी के निर्देश पर एसओजी को इस मामले में इनवॉल्व कर लिया है. अब क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के सचिव समेत 7 लोगों की गिरफ्तारी कभी भी की जा सकती है. पुलिस का कहना है कि नोटिस दिए जाने के बाद भी इन आरोपी पदाधिकारियों में से कोई भी बयान देने के लिए हाज़िर नहीं हुआ. पुलिस ने एक तरह से इन आरोपियों को फरार मान लिया है.

गौरतलब यह है कि किसी केस में एसओजी को इन्वॉल्व तभी किया जाता है, जब आरोपियों को तलाश करके गिरफ्तार करना हो. पुलिस के इस एक्शन के बाद एसोसिएशन के सचिव महिम वर्मा के साथ ही अन्य पदाधिकारियों पर गिरफ्तारी का संकट पैदा हो चुका है. खंडूड़ी ने साफ तौर पर कह दिया है कि ज़रूरत पड़ने पर गिरफ्तारी भी की जाएगी.

कितना गंभीर है यह मामला?
सीएयू के सचिव महिम वर्मा समेत प्रवक्ता संजय गुसाईं, सीनियर पुरुष क्रिकेट टीम मैनेजर नवनीत मिश्र, वीडियो विश्लेषक पीयूष रघुवंशी, कोच मनीष झा, सीएयू के कर्मचारी सत्यम वर्मा और पारुल को 20 जून को सेठी द्वारा दायर किए गए केस में आरोपी बनाया गया. पहले भी सीएयू विवादों में घिरती रही है, लेकिन इस बार मुसीबत बढ़ सकती है क्योंकि इस केस में राज्य की खेल मंत्री रेखा आर्य पहले ही बीसीसीआई से कार्रवाई करवाने की बात भी कह चुकी हैं.

Tags: Uttarakhand Cricket, Uttarakhand Cricket Association Controversy, Uttarakhand Police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर