Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड की शांत वादियों में संगीन वारदातों की दस्तक

उत्तराखंड की शांत वादियों में संगीन वारदातों की दस्तक

Photo: Etv/Pradesh18

Photo: Etv/Pradesh18

उत्तराखंड की शांत वादियों में अब संगीन वारदातों की दस्तक से खलल बढ़ रहा है.

उत्तराखंड की शांत वादियों में अब संगीन वारदातों की दस्तक से खलल बढ़ रहा है.

पुलिस संगीन वारदातों पर अंकुश लगाने में नाकाम साबित हो रही है. पुलिस का दावा है कि आंकड़ों पर नहीं पुलिस के खुलासों के रिकॉर्ड देखने की जरुरत है. प्रदेश में हत्या, अपहरण ,लूट, डैकती जैसी संगीन वारदातें बदस्तूर बढ़ रही हैं.

वर्ष 2014-15 के मुकाबले में इस साल प्रदेश में संगीन वारदातों का ग्राफ तेजी से बढ़ा है. आंकड़े बताते हैं कि रेप जैसी वारदातें भी साल दर साल बढ़ती जा रही हैं.

2015 में जहां 205 रेप के मामले दर्ज हुए. वहीं, इस साल अब तक 245 मामले दर्ज हो चुके हैं यही हाल अपहरण का भी है 2015 में 231 मामले सामने आए थे और इस साल 262 अपरहण के मामले दर्ज हो चुके हैं.

गनीमत इस बात की है कि छेडछाड़, चेन स्नेचिंग और सेक्स रैक्ट के मामलों में गिरावट आई है. साल भर पुलिस मुख्यालय में अधिकारी नए-नए कायदे कानून बनाते रहते हैं और एक्सपेरिमेंट भी करते हैं, लेकिन कोई भी तरकीब अपराधियों के सामने कारगार साबित नहीं हो रही है.

डीजीपी का साफ तौर से कहना है कि आंकडों पर नज़र मत डालिए , ये देखिए की पुलिस ने कितने मामलों का खुलासा किया है. एमए गणपति (डीजीपी)का कहना है पुलिस बेहतर काम कर रही है.

पुलिस अधिकारियों को डर सता रहा है कि आंकडों के हिसाब से अगर अपराध को देखा जायेगा तो कम अपराध दिखाने के फिराक में थानेदार रिपोर्ट लिखने से कराने लगेंगे. फिलहाल पुलिस को अपना इकबाल अपराधियों पर रखना होगी नहीं तो मित्र पुलिस की वर्दी पर यूं ही दाग लगते रहेंगे.

आंकड़े बताते है कि वारदातों बढ रही है भले ही इसे छिपाने की कोशिश की जा रही हो अगर वारदातों को छिपाने की कोशिश होगी तो अपराधी इसका फायदा तो उठायेंगे साथ ही अपराध का मर्ज कारगर दवा के अभाव में बढ़ा ही जाएगा.

कहते हैं कि कानून के हाथ लम्बे होते है बेहतर होगा कि पुलिस सख्ती के साथ अपराधियों के साथ पेश आये क्योकिं मित्रता निभाने के लिए उत्तराखंड का आम जनमानस काफी है.

Tags: Police, Uttarakhand news, क्राइम

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर