उत्तराखंड : कोरोना काल में साइबर क्राइम हुआ दोगुना! 3 साल में 4 गुना बढ़े मामले

उत्तराखंड में बढ़ा साइबर क्राइम का ग्राफ.

Crime in Uttarakhand : साल 2018 के आंकड़ों से तुलना करें तो इस साल साइबर अपराध के केस लगभग चार गुना बढ़ते हुए दिख रहे हैं. ऐसा क्यों हो रहा है? उत्तराखंड में साइबर क्राइम किस तरह का है और कितना फैला है?

  • Share this:
    देहरादून. कोरोना काल एक साल से ज़्यादा लंबा हो चुका है और इस दरमियान एक आंकड़ा चिंताजनक हुआ है. उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने जो डेटा जारी किया है, उसके मुताबिक राज्य में इस एक साल के दौरान साइबर क्राइम के मामलों में अच्छा खासा उछाल देखा गया है. साल दर साल आंकड़े देखे जाएं, तो यह बात साफ हो जाती है. 2019 में साइबर क्राइम संबंधी 3600 शिकायतें थीं जबकि 261 एफआईआर हुई थीं, जबकि 2020 में 6333 शिकायतें दर्ज हुईं और 420 एफआईआर. बात साफ है कि लॉकडाउन जैसे हालात के चलते साइबर अपराधियों की गतिविधियां तेज़ी से बढ़ गईं.

    डेटा जारी करने वाले विभागीय अधिकारियों की मानें तो इस साल मई के महीने तक एसटीएफ के पास 2860 शिकायतें आ चुकी हैं और साइबर अपराधों के मामले में करीब 350 एफआईआर फाइल की जा चुकी हैं. एसटीएफ के एसएसपी अजय​ सिंह के हवाले से खबरों में कहा गया, 'डिजिटल स्पेस के विस्तार के चलते साइबर अपराधों का बढ़ना तय है. हमें यह भी समझना चाहिए कि एक तरफ साइबर क्राइम को लेकर जागरूकता बढ़ी है, तो दूसरी तरफ, ऐसे अपराधों में भी इज़ाफ़ा हुआ है.'

    ये भी पढ़ें : उत्तराखंड में सरकारी नौकरी का मौका, इस विभाग में जल्द निकलने जा रही है भर्ती

    cyber fraud, internet fraud, uttarakhand news, uttarakhand crime news, साइबर फ्रॉड, इंटरनेट फ्रॉड, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड अपराध समाचार
    न्यूज़18 कार्टून

    कैसे समझे जाएं आंकड़े?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.