कहां हैं टीचर पता लगा लेगी सरकार !

News18India
Updated: November 15, 2017, 11:53 AM IST
कहां हैं टीचर पता लगा लेगी सरकार !
News18India
Updated: November 15, 2017, 11:53 AM IST
विद्यालयी शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर करने के लिए शिक्षा विभाग और एनआईसी उत्तराखण्ड के तकनीकि सहयोग से प्रारम्भिक शिक्षा निदेशालय उत्तराखण्ड द्वारा विकसित विद्यालयी शिक्षा विभाग उत्तराखण्ड एजुकेशन पोर्टल का उद्घाटन शिक्षा मंत्री अरविन्द पांडे ने किया.

बैठक में विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविन्द पांडे ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा एजुकेशन पोर्टल तैयार किया गया है जिसके माध्यम से विद्यालयी शिक्षा में तैनात 70 हजार  शिक्षक/शिक्षिकाओं का पूरा प्रोफाइल इस पोर्टल में अपलोड किया गया है.

इसके माध्यम से कौन शिक्षक किस जिले के किस ब्लॉक के किस विद्यालय तैनात है और किस विषय  का शिक्षक है. उनका पूरा डाटा मोबाईल नंबर सहित इस पोर्टल में फीड किया गया है, जिससे किसी भी जनप्रतिनिधि, आम नागरिक को किसी भी शिक्षक के सम्बन्ध में पूरी जानकारी मिल जाएगी.

उन्होंने यह भी अवगत कराया है कि शिक्षा विभाग में जल्द ही सभी शिक्षकों की रियल टाइम उपस्थिति भी ली जाएगी, जिसके लिए उज्जवल द्वारा साफ्टवेयर तैयार किया गया है. इसके माध्यम से शिक्षक अब स्कूल में बायोमैट्रिक उपस्थिति न लगाकर मोबाइल ऐप के माध्यम से अपनी सेल्फी लेगा जो इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से अपलोड हो जाएगी. इससे शिक्षक की उपस्थिति दर्ज हो जाएगी और उनकी लोकेशन भी पता चलती रहेगी.

उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से अब कौन शिक्षक, शिक्षिका स्कूल में है या नहीं साफ्टवेयर के माध्यम से पता लग जाएगा. इस साफ्टवेयर के माध्यम से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आएगा और शिक्षक अपना ज्यादातर समय अब बच्चों के पठन-पाठन में लगाएंगे.

 
First published: November 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर