Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand rains updates : अब तक 46 जानें गईं पर बढ़ सकता है आंकड़ा, नैनीताल में 28 मौतें, जानें कहां कितना हुआ नुकसान

Uttarakhand rains updates : अब तक 46 जानें गईं पर बढ़ सकता है आंकड़ा, नैनीताल में 28 मौतें, जानें कहां कितना हुआ नुकसान

नैनीताल समेत उत्तराखंड में कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात बने.

नैनीताल समेत उत्तराखंड में कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात बने.

Heavy Rainfall in Uttarakhand : नैनीताल समेत राज्य में कई रास्ते अवरुद्ध हैं. रुद्रप्रयाग और केदारनाथ के बीच नेशनल हाईवे बंद है. प्रदेश में अतिवृष्टि से अब तक 46 लोगों की मौत हुई है, 12 घायल हैं और 11 लोगों की तलाश जारी है जबकि कई मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण हुए हादसों और आपदाओं में मारे गए लोगों का आंकड़ा 46 पहुंच गया है. सोमवार से अब तक के आंकड़े जारी करते हुए एक आधिकारिक नोट में कहा गया है कि यह आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है क्योंकि नैनीताल समेत कई इलाकों में लोग लापता हैं. अब तक की स्थितियों के मुताबिक नैनीताल ज़िले में सबसे ज़्यादा 28 जानें गई हैं. ज़िले में 11 लोग अब भी लापता बताए जा रहे हैं इसलिए यहां मौतों के आंकड़े में इज़ाफे का अंदेशा है. इसके अलावा, 12 लोग घायल हैं,​ जिनका इलाज अस्पतालों में चल रहा है.

    कहां कब कितनी मौतें हुईं?
    17 अक्टूबर
    चम्पावत के बनबसा में – 1 मौत
    18 अक्टूबर
    पौड़ी – लैंसडौन – 3 मौत, 2 घायल
    चम्पावत – 2 मौत
    पिथौरागढ़ – 1 मौत
    19 अक्टूबर
    नैनीताल – 28 मौत, 2 घायल, 5 लापता
    अल्मोड़ा – 6 मौत, 2 घायल,
    चंपावत – 2 मौत, 2 घायल 6, लापता
    उधमसिंह नगर – 2 मौत
    चमोली – 4 घायल
    बागेश्वर – 1 मौत

    uttarakhand news, uttarakhand news today, weather news, weather update, weather forecast, उत्तराखंड ताजा समाचार, उत्तराखंड मौसम, मौसम समाचार, उत्तराखंड में बारिश

    उत्तराखंड में अतिवृष्टि से हुई मौतों के बारे में जारी किया गया आधिकारिक नोट.

    हल्द्वानी गया राहत दल, एनएच 107 अब भी बंद
    राहत कार्यों के लिए वायुसेना का राहत दल हल्द्वानी रवाना हो चुका है. नैनीताल ज़िले के सलारी गांव के लिए एसडीआरएफ की टीम रवाना हुई है, जहां भूस्खलन हुआ है और कई ग्रामीण इसमें दबे हुए हैं. दूसरी तरफ, रुद्रप्रयाग-केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग 107 अवरुद्ध है. पहाड़ी से मलबा आने से नौलापानी के पास एनएच बंद है, जिसे खोलने की कोशिशें जारी हैं.

    फसलों और पर्यटन को भी नुकसान
    राज्य में अतिवृष्टि से सिर्फ चार धाम यात्रा ही प्रभावित नहीं हुई बल्कि पर्यटन भी बुरी तरह प्रभावित हो गया है. नैनीताल के हालात बिगड़ने से यहां पर्यटक फंसे हैं और बाकी लौट रहे हैं. टिहरी झील में बोटिंग और कैंप कॉटेज मालिकों पर मौसम की मार पड़ी है. पर्यटक एडवांस बुकिंग कैंसल करवा रहे हैं तो स्थानीय व्यवसायियों को झटका लग रहा है. वहीं, ऋषिकेश में बारिश से किसानों की फसल को भारी नुकसान हुआ है और धान की फसल बर्बाद हो गई है.

    Tags: Heavy Rainfall, Nainital news, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर