आईएफएस सम्मेलन के मंच पर सीएम और वन मंत्री के बीच हुई 'नोकझोंक'

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और वन मंत्री हरक सिंह रावत के बीच भाषण ही भाषण में मीठी नोकझोंक हुई. मंत्री और सीएम के बीच चली इस नोकझोंक पर मंच और सभागार में मौजूद आईएफएस अफसरों ने खूब ठहाके लगाए.

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: November 23, 2018, 12:52 PM IST
आईएफएस सम्मेलन के मंच पर सीएम और वन मंत्री के बीच हुई 'नोकझोंक'
हरक सिंह और मंच पर बैठे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत
Sunil Navprabhat
Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: November 23, 2018, 12:52 PM IST
भारतीय वन सेवा के अधिकारियों के सम्मेलन में मौजूद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और वन मंत्री हरक सिंह रावत के बीच भाषण ही भाषण में मीठी नोकझोंक हुई. मंत्री और सीएम के बीच चली इस नोकझोंक पर मंच और सभागार में मौजूद आईएफएस अफसरों ने खूब ठहाके लगाए.

दरअसल, वन मंत्री आईएफएस अफसरों की उस मांग के समर्थन में बोल रहे थे, जिसमें आईएफएस अफसरों ने उन्हें वन विभाग से बाहर अन्य विभागों और शासन में प्रतिनिधित्व देने की मांग उठाई. वन मंत्री ने कहा कि वे बहुत पहले से ही इस बात का समर्थन करते रहे हैं कि अधिकारियों की क्षमता का भरपूर प्रयोग किया जाना चाहिए. अधिकारियों की क्षमता को एक विभाग में बांधकर क्येां रखे.

मंत्री ने आगे कहा कि उन्होंने जिसके-जिसके सामने यह बात रखी उसकी सरकार चली गई. इस बीच मंच पर मौजूद सीएम ने कुछ कहा तो,  हरक सिंह ने कहा कि  इसलिए उनकी सरकार गई, क्योंकि उन्होंने बात नहीं मानी.

मुख्यमंत्री ने इशारा करके कहा, 'वे पूरे पांच साल रहने वाले हैं'

हरक सिंह ने आईएफएस को संबोधित करते हुए कहा, मैं तो आपका वकील हूं. इस पर मुख्यमंत्री ने फिर मंच से ही कहा कि कहीं फीस तो नहीं ली आपने. इस पर हरक ने फिर कमेंट किया कि कुछ मामले जनहित में भी होते हैं. वैसे भी आजकल कोर्ट केस की बजाय जनहित याचिकाओं को प्राथमिकता से ले रही है. इस पर सभी अधिकारी ठहाके लगाकर हंसने लगे.

मुख्यमंत्री ने भी अपने अंदाज में कसा तंज-

सीएम और हरक सिंह के बीच हुए इस मीठे नोकझोंक पर सियासी हलकों में बहस शुरू हो गई है. लोग अपने-अपने हिसाब से इसके सियासी मायने निकाल रहे है. बता दें कि मंत्री हरक सिंह विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे.
Loading...

यह भी पढ़ें- पीएम ने शहरी गैस वितरण परियोजना का शिलान्यास कर उत्तराखंड को दी बड़ी सौगात

यह भी देखें- VIDEO: हरक सिंह रावत ने कहा पेड़ काटने से कोई नुकसान नहीं, पुराने पेड़ों को काटना ही अच्छा
First published: November 23, 2018, 10:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...