उत्तराखंड सरकार से डिबेट के लिए देहरादून पहुंचे दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया, कही यह बात...

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया उत्तराखंड सरकार से विकास कार्यों को लेकर डिबेट करने देहरादून पहुंचे हैं

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया उत्तराखंड सरकार से विकास कार्यों को लेकर डिबेट करने देहरादून पहुंचे हैं

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि मदन कौशिक (Madan Kaushik) 100 काम नहीं बल्कि बिजली, महिला सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा को लेकर सिर्फ पांच काम गिनवाएं. इसी खुली बहस के लिए मैं देहरादून (Dehradun) आ गया हूं ताकि एक अच्छी और स्वस्थ बहस हो सके

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2021, 10:43 PM IST
  • Share this:

देहरादून. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) रविवार देर शाम उत्तराखंड (Uttarakhand) के शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक (Madan Kaushik) से डिबेट करने के लिए देहरादून पहुंचे. सिसोदिया सोमवार को उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) द्वारा किए विकास कार्यों पर खुली बहस करने के लिए मदन कौशिक के साथ डिबेट करने यहां आए हैं. इसका निमंत्रण उन्होंने मदन कौशिक को बीते 31 दिसंबर को भेजा था, खुद मदन कौशिक ने भी इसे स्वीकार किया था. मनीष सिसोदिया का कहना है कि प्रदेश की बीजेपी सरकार (BJP Government) से लोग परेशान हो चुके हैं और यहां क्या काम हुए है इसपर बहस होना जरूरी है, इसलिए मेरे निमंत्रण को मदन कौशिक ने खुद स्वीकार किया था. लेकिन खुली बहस की चुनौती को मदन कौशिक शायद नहीं करना चाहते इसलिए एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया था जिसमें उन्होंने कहा कि वो दिल्ली जाकर खुली बहस करेंगे.

दूसरी तरफ, मदन कौशिक का मानना है कि आम आदमी पार्टी राजनीति का मजाक उड़ाने का काम कर रही है, और जिस तरह से यहां (उत्तराखंड) पर्यटक आते हैं, उसी प्रकार आप पार्टी भी पर्यटक के तौर पर यहां आई है. उन्होंने अपने बयान में उत्तराखंड की जनता को आगे करते हुए कहा कि वो किसी के बरगलाने में नहीं आने वाली है. उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया कहते हैं कि लगता है अब खुली बहस से डर कर बीजेपी भागना चाहती है. मदन कौशिक ने कहा कि इन सभी सवालों के जवाब वो छह जनवरी को देना चाहते हैं जब वो उनके साथ दिल्ली जाकर दिल्ली माॅडल देखेंगे और उसके बाद डिबेट करेंगे.

सिसोदिया ने कहा- CM रावत ने मेरे पूछे गए सवालों के जवाब नहीं दिए

मनीष सिसोदिया ने कहा कि जब उनके द्वारा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से सवाल के जवाब मांगे गए तो उन्होंने अपने सीनियर मंत्री मदन कौशिक को आगे कर दिया. इसके बाद मदन कौशिक ने एक या दो नहीं बल्कि 100 काम गिनवाने का दावा किया था. लेकिन रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में मदन कौशिक ने खुली बहस के बजाए उल्टा आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति की. उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी ने जनता के हित में काम किए हैं तो फिर मदन कौशिक भाग क्यों रहे हैं. अगर वाकई में बीजेपी सरकार ने विकास के काम किए हैं तो उन्हें बहस करने से डर क्यों लग रहा है.


दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि मदन कौशिक 100 काम नहीं बल्कि बिजली, महिला सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा को लेकर सिर्फ पांच काम गिनवाएं. इसी खुली बहस के लिए मैं देहरादून आ गया हूं ताकि एक अच्छी और स्वस्थ बहस हो सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज