देहरादून में घरों में घुसे 10 सांप, वन विभाग ने ऐसे जीती जंग, देखें Video
Dehradun News in Hindi

देहरादून में घरों में घुसे 10 सांप, वन विभाग ने ऐसे जीती जंग, देखें Video
देहरादून में मिले 10 रैट स्नेक (फाइल फोटो)

फॉरेस्ट की रेस्क्यू टीम में शामिल स्नेक एक्सपर्ट अरशद और प्रवेश कुमार का कहना है कि रैट स्नेक (Rat Snake) फुर्तीला और साइज में बड़ा होता है, लेकिन ये विषैला नहीं होता.

  • Share this:
देहरादून. एक तरह जहां लोग COVID-19 को लेकर लागू लॉकडाउन (Lockdown) के कारण घरों में कैद हैं, तो वहीं इस दौरान वनों में रहने वाले जीव-जंतुओं को इंसानों की दखलंदाजी से राहत मिली है. यही वजह है कि उत्तराखंड में इन दिनों सांपों के मिलने की शिकायतें बढ़ गई हैं. बीते शनिवार को देहरादून (Dehradun) के विभिन्न क्षेत्रों से करीब 10 सांप रेस्क्यू किए गए हैं. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने इन सांपों को पकड़ा और जंगल में छोड़ा. विभाग ने बताया कि ये सभी सांप  रैट स्नेक (Rat Snake) हैं. फॉरेस्ट टीम ने बाद में इन्हें एक साथ मालसी के जंगलों में छोड़ दिया. एक साथ 10 सांपों को पकड़ने की यह जंग वन विभाग ने बड़ी मशक्कत से जीती. आप भी देखें इसका Video.

सांपों को मारें नहीं, बल्कि यहां करें संपर्क

लॉकडाउन के दौरान सिर्फ सांप ही नहीं, बल्कि इंसानी गतिविधियां कम होने के कारण इन दिनों कई जानवर आबादी वाले क्षेत्रों में दिखाई दे रहे हैं. खासकर हिरन, हाथी और लेपर्ड का दिखना तो आम सी बात हो गई है. फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की सिटी रेस्क्यू टीम के इंचार्ज रवि जोशी कहते हैं कि गर्मी बढ़ने के साथ ही अब सबसे ज्यादा फोन उनके पास सांपों को लेकर आ रहे हैं. लोग कहते हैं कि पहले इस तरह घरों से सांप कभी भी नहीं निकला करते थे. रवि जोशी ने इसे लेकर बताया कि ये सांपों का मेटिंग पीरियड है. इसी कारण बड़ी संख्या में सांप बिलों से बाहर निकल रहे हैं. वे लगातार लोगों से अपील कर रहे हैं कि सांपों को मारे नहीं, बल्कि यदि सांप घर में घुसता है तो फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को फोन करें या फिर 108 नंबर पर भी संपर्क कर सकते हैं. दरअसल, हेल्थ डिपार्टमेंट की इस इमरजेंसी स्वास्थ्य सेवा से फॉरेस्ट डिपार्टमेंट का कोआर्डिनेशन हैं.




 

विषैला नहीं होता है रैट स्नेक

फॉरेस्ट की रेस्क्यू टीम में शामिल स्नेक एक्सपर्ट अरशद और प्रवेश कुमार का कहना है कि रैट स्नेक फुर्तीला और साइज में बड़ा होता है, लेकिन ये विषैला नहीं होता. घर में घुसने पर बड़े सांप को देख लोग भयभीत हो जाते हैं. स्नेक एक्सपर्ट अरशद कहते हैं कि रैट स्नेक एक तरह से विषहीन सांप हैं और घरों या खेतों में ये नेचुरल पेस्टीसाइड जैसा काम करता है. उसका सबसे प्रिय भोजन चूहे होते हैं और वह चूहों को मारकर खा जाता है. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही रामनगर में एक किंग कोबरा ने रैट स्नेक को अपना शिकार बना लिया था. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था.

ये भी पढ़ें: COVID-19 Update: उत्तराखंड में 4 और पॉजिटिव केस, सूबे में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 67 हुई

रोंगटे खड़ा कर देने वाला VIDEO, 8 फुट रैट स्नेक को जिंदा निगल गया किंग कोबरा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज