अरुण मोहन जोशी बने देहरादून के SSP, 6 महीने ही रहेंगे... प्रदेश पुलिस में ये भी हुए ट्रांस्फ़र

देहरादून की कप्तान रहीं 2008 बैच की आईपीएस निवेदिता कुकरेती को इंटेलीजेंस और पावर कॉर्पोरेशन में भेजा गया है.

Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: August 2, 2019, 6:32 PM IST
अरुण मोहन जोशी बने देहरादून के SSP, 6 महीने ही रहेंगे... प्रदेश पुलिस में ये भी हुए ट्रांस्फ़र
त्रिवेन्द्र सरकार ने आज तीन ज़िलों के पुलिस कप्तानों को बदल दिया. देहरादून, हरिद्वार और बागेश्वर के पुलिस कप्तानों को हटाकर उनकी जगह नए आईपीएस अफसरों को जिम्मेदारी दी गई है.
Manish Kumar
Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: August 2, 2019, 6:32 PM IST
त्रिवेन्द्र सरकार ने आज तीन ज़िलों के पुलिस कप्तानों को बदल दिया. देहरादून, हरिद्वार और बागेश्वर के पुलिस कप्तानों को हटाकर उनकी जगह नए आईपीएस अफसरों को जिम्मेदारी दी गई है. 2006 बैच के अरुण मोहन जोशी देहरादून के नए एसएसपी बनाए गए हैं. ख़ास बात यह है कि छह महीने बाद उनका डीआईजी पद पर प्रमोशन होना है. इस तरह वह छह महीने ही एसएसपी रह पाएंगे. 2007 बैच के सेंथिल अबुदई हरिद्वार के नए एसएसपी होंगे. बागेश्वर की नई पुलिस कप्तान 2012 बैच की प्रीति प्रियदर्शिनी होंगीं. बागेश्वर प्रदेश का ऐसा ज़िला बन गया है जहां ज़िलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक दोनों ही अब महिला हैं. रंजना राजगुरु बागेश्वर की ज़िलाधिकारी हैं.

निवेदिता कुकरेती तो दो ज़िम्मेदारी 

देहरादून की कप्तान रहीं 2008 बैच की आईपीएस निवेदिता कुकरेती को इंटेलीजेंस में एसपी और पावर कॉर्पोरेशन में एसएसपी की दोहरी ज़िम्मेंदारी दी गई है. हरिद्वार के एसएसपी रहे 2007 बैच के जनमेजय खण्डूरी को हरिद्वार में ही कुम्भ मेला का एसएसपी बनाया गया है. बागेश्वर के पुलिस अधीक्षक रहे 2014 बैच के आईपीएस लोकेश्वर सिंह को हलद्वानी में पुलिस अधीक्षक क्षेत्रीय बनाया गया है.

इसके अलावा देहरादून के तीन पीपीएस अफसरों के भी तबादले किए गए हैं. मणिकांत मिश्रा को देहरादून के अपर पुलिस अधीक्षक क्षेत्रीय के पद से हटा दिया गया है. उनकी जगह अब सरिता डोभाल को नया एएसपी क्षेत्रीय बनाया गया है. दूसरी तरफ एसडीआरएफ में तैनात हरबंस सिंह को पावर कार्पोरेशन के सतर्कता सेल में तैनाती दी गई है.

लंबे समय बाद सक्रिय पुलिसिंग में आए जोशी 

बता दें कि IPS अरुण मोहन जोशी लम्बे समय बाद सक्रिय पुलिसिंग में आए हैं. वह लम्बे वक्त से हरिद्वार में इण्डियन रिज़र्व बटालियन में तैनात थे. सेंथिल अबुदई सतर्कता विभाग में एसपी के पद पर तैनात थे. अपनी तैनाती के वक्त अबुदई ने कई गंभीर मामलों में जांच की. निवेदिता कुकरेती 15 मई 2017 से देहरादून में एसएसपी के पद पर तैनात थीं.

आईपीएस अफसरों के इन तबादलों के तीन महत्वपूर्ण बिन्दु निकलकर सामने आ रहे हैं. अरुण मोहन जोशी जैसे तेज अफसर को सक्रिय पुलिसिंग में वापस लाया गया है. वह पहले हरिद्वार जैसे बड़े जिले के एसएसपी रह चुके हैं. वहीं दूसरी ओर सरकार ने 2021 में लगने वाले कुम्भ मेले की व्यवस्था को चौकस रखने को भी ध्यान में रखा है. उत्तराखण्ड पुलिस में सिंघम कहे जाने वाले IPS जनमेजय खण्डूड़ी को एसएसपी कुम्भ मेला बनाया गया है.
Loading...

कुंभ मेले पर ध्यान 

बता दें कि सीनियर पुलिस अफसर संजय गुंज्याल पहले से ही आईजी कुम्भ मेला के पद पर तैनात हैं. उनके हाथ मजबूत करने के लिए सरकार ने एक और आईपीएस को तैनात कर दिया है. प्रदेश में बिजली चोरी को रोकने के लिए भी सरकार ने काफी गम्भारता दिखाई है. निवेदिता कुकरेती को पावर कॉर्पोरेशन में एसएसपी बनाकर सरकार ने यही संदेश देने की कोशिश की है. कुकरेती के अलावा पीपीएस हरबंस सिंह को पावर कॉर्पोरेशन में भेजा गया है.

यह भी पढ़ेंः 

शासन में बड़ा फेरबदल, 25 आईएएस और 9 पीसीएस के ट्रांस्फ़र... यहां देखें पूरी लिस्ट

महिला टीचर से तबादले के एवज में मांगी थी रिश्वत, मिली 3 साल कैद व 1 लाख जुर्माने की सजा
First published: August 2, 2019, 6:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...