देहरादून में बंदरों का आतंक, वन विभाग ने उत्पाती बंदरिया और उसके बच्चे को पकड़ा

देहरादून के धर्मपुर इलाके में एक बंदरिया और उसके बच्चे ने आतंक मचा रखा था. बंदरिया ने इस दौरान आने-जाने वाले कई बुजुर्गों पर हमला किया था
देहरादून के धर्मपुर इलाके में एक बंदरिया और उसके बच्चे ने आतंक मचा रखा था. बंदरिया ने इस दौरान आने-जाने वाले कई बुजुर्गों पर हमला किया था

लोगों ने वन विभाग से इसकी शिकायत की तो बंदरिया को काबू में करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. इसके बाद विभाग ने पिंजरा लगाने का फैसला किया आखिरकार शुक्रवार देर रात शरारती बंदरिया पिंजरे में कैद हो गई. लेकिन, उसका बच्चा पिंजरे के बाहर रह गया जिसे बाद में उन्होंने कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ लिया

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2020, 6:08 PM IST
  • Share this:
देहरादून. बच्चा इंसान का हो या जानवर का, उसके लिए उसकी मां ही दुनिया होती है. फिर चाहे मां अगर जेल में भी रहे तो भी बच्चा कैद में सुकून महसूस करता है. उत्तराखंड (Uttarakhand) की राजधानी देहरादून (Dehradun) में एक बंदर के रेस्क्यू के दौरान हुई घटना इस बात को फिर साबित करती है. देहरादून के धर्मपुर में आबादी वाले क्षेत्र में पिछले कई दिनों से एक बंदरिया आतंक (Monkey Menace) मचा रही थी. यह बंदरिया कई लोगों विशेष कर बुर्जगों पर हमला कर चुकी थी.

लोगों ने वन विभाग से इसकी शिकायत की तो बंदरिया को काबू में करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. इसके बाद विभाग ने पिंजरा लगाने का फैसला किया आखिरकार शुक्रवार देर रात शरारती बंदरिया पिंजरे में कैद हो गई. लेकिन, उसका बच्चा पिंजरे के बाहर रह गया. इससे गुस्से में आकर बंदरिया ने पिंजरे के अंदर तो वहीं उसके बच्चे ने पिंजरे के बाहर चीखना-चिल्लाना शुरू कर दिया.

रात भर बंदरिया और उसके बच्चे की चीख-पुकार से परेशान मोहल्लेवालों ने सुबह होने पर वन विभाग को फोन कर इसकी सूचना दी. मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम ने पिंजरे में कैद बंदरिया को लाने की कोशिश की लेकिन वो और आक्रामक होकर चिल्लाने लगी. यह देख रेस्क्यू टीम ने काफी सोच-विचार के बाद बंदरिया के बच्चे को भी पकड़ने का फैसला किया. आखिरकार जब छोटे बंदर को पकड़ लिया गया तो उसे उसकी मां के साथ पिंजरे में बंद किया गया. बंदरिया मां-और बच्चा दोनों शांत हो गए. मौहल्लेवालों को इस मुसीबत से निजात मिली तो उन्होंने रेस्क्यू टीम को सम्मानित कर उनकी पीठ थपथपाई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज