देहरादून-मसूरी आना है तो सड़क से ही आना, 40 घंटे तक लेट चल रही हैं ट्रेन

पूरे भारत में रेलवे के सौन्दर्यीकरण का काम चल रहा है और इस वजह से ट्रेनें लेट चल रही हैं.

News18 Uttarakhand
Updated: May 17, 2018, 3:10 PM IST
देहरादून-मसूरी आना है तो सड़क से ही आना, 40 घंटे तक लेट चल रही हैं ट्रेन
देहरादून रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतज़ार करते यात्री.
News18 Uttarakhand
Updated: May 17, 2018, 3:10 PM IST
गर्मियों की छुट्टी में अगर आप भी ट्रेन में देहरादून-मसूरी आने का प्लान बना रहे है तो यह ख़बर आपके लिए है. दून पहुंचने वाली ट्रेनें 40 घंटे तक लेट आ रही है. चिंता की बात यह भी है कि जल्द ही स्थिति सुधरने की गुंजाइश भी नहीं है.

पर्यटन सीज़न शुरू हो गया है और स्कूलों की छुट्टियां पड़ने के साथ ही चरम पर पहुंच जाएगा. मैदानी इलाकों से लोगों का दून और मसूरी आना शुरू हो गया है लेकिन अगर आप रेलवे से सफ़र कर देहरादून आना चाहते हैं तो धैर्य के साथ टिकट बुक करवाइएगा क्योंकि इस गर्मी में ट्रेनों का लेट होना नए रिकॉर्ड बना रहा है.

हां एक बात और अगर आपने कनेक्टिंग ट्रेन का टिकट बुक कराया है तो आप की परेशानी कई गुना बढ़ सकती है क्योंकि हर ट्रेन लगभग 10 घंटे लेट है. दिल्ली से देहरादून आने वाली शताब्दी एक्सप्रेस, दून से हावड़ा चलने वाली उपासना सुपर फास्ट एक्सप्रेस, लिंक एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें आम आदमी को रुला रही हैं.

दरअसल पूरे भारत में रेलवे के सौन्दर्यीकरण का काम चल रहा है और इस वजह से ट्रेनें लेट चल रही हैं. दून पहुंचने वाली कई ट्रेनें तो 36 से 40 घंटे तक लेट चल रही हैं. ट्रेनों की देरी को लेकर न्यूज़ 18 ने स्टेशन अधीक्षक करतार सिंह से सवाल पूछा तो उनका कहा था कि सुधार और मरम्मत कार्य तो होने ही हैं और यह कब तक पूरे होंगे इसकी भी कोई समयसीमा तय नहीं है.

हालांकि करतार सिंह यह भी दावा करते हैं कि काम पूरे हो जाएंगे तो यात्रियों को बहुत सुविधा होगी और स्टेशन में आकर अच्छा भी लगेगा. लेकिन डेढ़-दो दिन लेट होने के बाद जिन यात्रियों को रेलवे से मोहभंग हो जाएगा उनका क्या? जब हवाई यात्रा दिनों-दिन सस्ती हो रही है तब इतनी लेटलतीफ़ी की रेलवे को भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है.

(देहरादून से भारती सकलानी की रिपोर्ट)
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Uttarakhand News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर