देहरादून में नशे के कारोबारियों की धरपकड़ के लिए चलेगा बड़ा अभियान... 'ऑपरेशन सत्य'

एक महीने तक चलने वाला ऑपरेशन सत्य नशे के कारोबारियों का नेटवर्क तो तोड़ेगा ही, साथ ही बच्चों को नशे से दूर रहने की जानकारी भी देगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
एक महीने तक चलने वाला ऑपरेशन सत्य नशे के कारोबारियों का नेटवर्क तो तोड़ेगा ही, साथ ही बच्चों को नशे से दूर रहने की जानकारी भी देगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अगर कोई नाबालिग नशे के कारोबार में संलिप्त पाया जाता है तो पुलिस उसके परिजनों पर भी सख्त कार्रवाई करेगी.

  • Share this:
देहरादून में लगातार बढ़ रहे नशे के कारोबार को देखते हुए दून पुलिस एक विशेष अभियान 'ऑपरेशन सत्य' चलाने जा रही है. एक अक्टूबर से शुरू होने वाला इस महाअभियान को 30 दिनों तक चलाया जाएगा. यह अभियान राजधानी के सभी मुहल्लों में चलाया जाएगा और टार्गेट पर होंगे नशे के कारोबारी. पुलिस के राडार में वह ड्रग्स पैडलर  होंगे जो नाबालिग बच्चों से भी नशे का कारोबार को करवा रहे हैं. बता दें कि देहरादून में बरेली, सहारनपुर और हिमाचल से नशा पहुंचता है.

लापरवाह अभिभावक सावधान

एसएसपी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि सख्त एक्शन से ही राजधानी में बढ़ते हुए नशे के कारोबार को खत्म किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि इस अभियान की कमान एसपी क्राइम लोकजीत सिंह को सौंपी गई है. उनके नेतृत्व में एक महीने तक चलने वाला ऑपरेशन सत्य नशे के कारोबारियों का नेटवर्क तो तोड़ेगा ही, साथ ही बच्चों को नशे से दूर रहने की जानकारी भी देगा.



एसएसपी ने लापरवाह अभिभावकों को भी सावधान किया. उन्होंने कहा कि अगर कोई नाबालिग नशे के कारोबार में संलिप्त पाया जाता है तो पुलिस उसके परिजनों पर भी सख्त कार्रवाई करेगी. देहरादून में नशे के कारोबार पर रोक लगाने के लिए पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है लेकिन यहां सक्रिय ड्रग्स पैडलर यहां पढ़ रहे छात्रों को नशे की लत का शिकार बनाते हैं. 'ऑपरेशन सत्य' का मकसद इसे अब खत्म करना है.
2109 से अब तक कार्रवाई

2019 में भी पुलिस ने नशे के कारोबार पर लगाम लगाने के लिए बड़ी कार्रवाई की थी. पुलिस ने इस दौरान नशे के कारोबार पर लगाम लगाने के लिए सिर्फ़ एक महीने में 521 मुकदमे दर्ज किए थे और 524 लोगों पर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया था. तब चरस, स्मैक, अफीम, हैरोइन के बड़े सप्लायर्स पर पुलिस ने कार्रवाई की थी और 63 करोड़ के नशीले पदार्थो को जब्त किया था.

एक बार फिर से राजधानी पुलिस नशे के चक्रव्यू को भेदने के लिए एक महीने का अभियान चलाने जा रही है. इस अभियान से जहां नशा कारोबारियों में हड़कंप है तो पुलिस इस अभियान में बड़ी कार्रवाई का दावा भी कर रही है. दरअसल नशे का कारोबार ऐसा धंधा है जो शायद ही कहीं, कभी पूरी तरह खत्म हो सका हो. इसलिए इसके ख़िलाफ़ लगातार कार्रवाई करने की ज़रूरत होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज