लाइव टीवी

देहरादून के RTO कर्मचारी की पत्नी ने करवाई FIR, 1.35 करोड़ नहीं सिर्फ़ 5 लाख की लूट बताई

News18 Uttarakhand
Updated: October 7, 2019, 3:57 PM IST
देहरादून के RTO कर्मचारी की पत्नी ने करवाई FIR, 1.35 करोड़ नहीं सिर्फ़ 5 लाख की लूट बताई
अभिमन्यु अकेडमी के मालिक के घर में डकैती डालने वाले बदमाशों ने आरटीओ कर्मचारी के घर में डकैती डालने के बारे में भी बताया था. (फ़ाइल फ़ोटो)

आरटीओ कर्मचारी आलोक कुमार (RTO Employee Aalok Kumar) ने बताया कि बदमाशों ने डकैती के बारे में किसी को भी बताने पर दिल्ली (Delhi) में रह रहे उनके बेटे की हत्या की धमकी दी थी.

  • Share this:
डकैती के अनोखे मामले में पुलिस की मान-मनौव्वल के बाद देहरादून (Dehradun) में आरटीओ कर्मचारी (RTO Employee) की पत्नी ने अपने घर में डकैती (Dacoity) की शिकायत दर्ज करवाई है. हालांकि डकैतों ने जितनी रकम बताई है उसके मुकाबले आज दर्ज करवाई गई शिकायत (FIR) में बहुत ही कम रकम का उल्लेख किया गया है. इस फ़र्क को देखते हुए जांच देहरादून की एसपी सिटी (SP City Dehradun) को सौंपी गई है क्योंकि पुलिस का मानना है कि इस केस में अभी बहुत कुछ निकलना बाक़ी है.

डर से नहीं करवाई FIR

बता दें कि 22 अक्तूबर की रात अभिमन्यु क्रिकेट अकेडमी के मालिक आरपी ईश्वरन के घर डकैती पड़ी थी. पुलिस ने कड़ी मशक्ककत के बाद दिल्ली से लुटेरों को पकड़ा तो एक और लूट के बारे में पता चला. पकड़े गए बदमाशों ने बताय कि उन्होंने वसंत विहार थाना क्षेत्र में कुछ महीने पहले एक आरटीओ कर्मचारी आलोक के घर से भी एक करोड़ 35 लाख रुपये लूटे थे.

मज़ेदार बात यह थी कि इतनी बड़ी डकैती पड़ने के बावजूद आरटीओ कर्मचारी ने पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई गई थी. डकैतों की स्वीकारोक्ति के बाद पुलिस ने आरटीओ कर्मचारी से पूछताछ की तो उन्होंने डकैती की बात स्वीकार की.

5 लाख कैश, 20 लाख के ज़ेवर की लूट

आरटीओ कर्मचारी आलोक ने बताया कि बदमाशों ने डकैती के बारे में किसी को भी बताने पर दिल्ली में रह रहे उनके बेटे की हत्या की धमकी दी थी इसलिए उन्होंने पुलिस में घटना की सूचना नहीं दी.

पुलिस के काफ़ी समझाने के बाद आरटीओ कर्मचारी आलोक की पत्नी रमा ने तहरीर दी. तहरीर में उन्होंने पांच लाख रुपये और 20 लाख रुपये कीमत के जेवर लूटे जाने की बात कही है.
Loading...

एसपी सिटी को सौंपी जांच

एसएसपी ने इस मामले की जांच एसपी सिटी श्वेता चौबे को सौंपी है. एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने कहा कि बदमाशों और आरटीओ कर्मचारी की पत्नी द्वारा बताई गई लूट की रकम में फर्क है इसलिए मामले की जांच एसपी सिटी को सौंपी गई है.

पुलिस को लगता है कि इस मामले में अब भी बहुत कुछ ऐसा है जिसका खुलासा किया जाना ज़रूरी है. एसएसपी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि ज़रूरत पड़ेगी तो पुलिस आरोपियों और आरटीओ कर्मचारी आलोक कुमार और उनके परिवार का लाइ डिटेक्टर टेस्ट तक करवाएंगे.

ये भी देखें: 

क्रिकेटर अभिमन्यु के घर डकैती का खुलासा... दिल्ली निवासी मुख्य अभियुक्त समेत 5 गिरफ़्तार

NCRB की सर्वे रिपोर्ट में हुआ खुलासा, टॉप 05 में उत्तराखंड पुलिस 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 3:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...