लाइव टीवी

डेंगू का प्रकोप: जुगरान का दावा 50,000 से ज्यादा केस... सीएम के ख़िलाफ़ कांग्रेस देगी राज्यपाल को ज्ञापन

News18 Uttarakhand
Updated: September 16, 2019, 7:51 PM IST
डेंगू का प्रकोप: जुगरान का दावा 50,000 से ज्यादा केस... सीएम के ख़िलाफ़ कांग्रेस देगी राज्यपाल को ज्ञापन
देहरादून के अस्पताल डेंगू के मरीज़ों से भरे हुए हैं. (फ़ाइल फ़ोटो)

सोमवार को भी डेंगू के फैलने का सिलसिला जारी रहा और 141 नए मामले सामने आए. इनमें से 78 अकेले देहरादून के हैं.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) में डेंगू के मामले (Dengue Cases) लगातार बढ़ते जा रहे हैं और इसके साथ ही इसे लेकर आरोप-प्रत्यारोप (War of Words) भी शुरु हो गए हैं. कांग्रेस (Congress) अब डेंगू पर दिए एक बयान को लेकर सीधे मुख्यमंत्री (CM Trivendra Singh Rawat) पर हमलावर हो गई है तो बीजेपी नेता (BJP Leader) और राज्य आंदोलनकारी रविंद्र जुगरान (Ravindra Jugran) ने भी प्रशासन पर डेंगू पीड़ितों की संख्या छुपाने (Number of Patients) का आरोप लगाया है और सरकारी अस्पतालों (Government Hospitals) के अलावा उत्तराखंड में मौजूद विभिन्न संस्थानों के अस्पतालों को भी आम लोगों के लिए खोलने की मांग की है. इस बीच सोमवार को भी डेंगू के फैलने का सिलसिला जारी रहा और 141 नए मामले सामने आए.

141 नए केस 

उत्तराखंड में डेंगू शायद अब तक की सबसे भयावह स्थिति में पहुंच गया है. देहरादून में ही सोमवार को डेंगू के 78 नए केस सामने आए. देहरादून में डेंगू के मरीज़ों की संख्या 1866 पर पहुंच गई है. पूरे प्रदेश में आज डेंगू के 141 नए केस दर्ज किए गए हैं.

देहरादून के 78 के अलावा नैनीताल में 42, ऊधम सिंह नगर में 21 नए केस दर्ज किए गए. डेंगू से अब तक राज्य में 5 लोगों की मौत हो चुकी है और 3,016 लोगों को यह बीमारी हो चुकी है.

आंकड़े छुपा रही है सरकार 

इस बीच राज्य आंदोलनकारी और बीजेपी नेता रविंद्र जुगरान ने शासन-प्रशासन पर डेंगू को लेकर लीपापोती करने का आरोप लगाया है. देहरादून में एक प्रेस कॉंफ़्रेंस कर जुगरान ने शासन पर आंकड़े छुपाने का आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में कम से कम 50,000 डेंगू से प्रभावित हुए हैं.

जुगरान ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर राज्य में मौजूद आर्मी, ओएनजीसी, वाडिया इंस्टीटयूट जैसे केंद्र संस्थानों के हॉस्पिटल को भी आम जनता के लिए खोलने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा कि राज्य के सरकारी-गैर सरकारी हॉस्पिटल मरीजों से पैक हो चुके हैं इसलिए यह कदम उठाया जाना ज़रूरी है.
Loading...

सीएम के बयान का विरोध 

इस बीच डेंगू को लेकर राजनीति भी तेज़ हो गई है. मुख्यमंत्री के एक बयान पर कांग्रेस हमलावर हो गई है. बता दें कि शनिवार को कोरोनेशन अस्पताल में मरीज़ों को देखने पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने  डेंगू की रोकथाम में सरकार पर विफल रहने के कांग्रेस के आरोप पर कहा था कि मच्छर सरकार के घर में पैदा नहीं होता. इसके बाद उन्होंने यह भी कहा था, “मैं भी कह सकता हूं कि विपक्षी डेंगू के मच्छर लाकर यहां छोड़ रहे हैं”.

सीएम के इसी बयान को लेकर कांग्रेस हमलावर हो गई है. कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि सीएम का यह कहना है कि डेंगू के मच्छर विपक्ष ने छोड़े हैं बेहद निंदनीय है. इस बयान और प्रदेश की खराब स्वास्थ्य व्यवस्था के खिलाफ कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को राज्यपाल से मिलेगा.

राज्यपाल को ज्ञापन देगी कांग्रेस 

प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में सरकार की नाकामी पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को ज्ञापन सौंपा जाएगा. धस्माना ने कहा कि जब तक जबतक डेंगू के मामले थम नहीं जाते तब तक कांग्रेस चुप बैठने वाली नहीं है और वह सरकार पर लगातार सही काम करने के लिए दबाव बनाती रहेगी.

ये भी देखें: 

OMG! डेंगू फैलाने दूसरे राज्यों से गाड़ियों में बैठकर Uttarakhand आ रहे हैं एडीस मच्छर

उत्तराखंड: डेंगू से निपटने के लिए ये है स्वास्थ्य विभाग की योजना

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 7:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...